बिहार में बढ़ी दाल की कीमतों के लिए नीतीश जिम्मेदार: केंद्र सरकार

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव के चलते राजनीतिक दलों के बीच जारी आरोप-प्रत्यारोप के दौर में केंद्र की सत्तारूढ राजग ने विपक्षी दलों के उन हमलों पर पलटवार किया है जिसमें वे सभी राज्य में बढ़ी दाल की कीमतों के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार बता रही थी। मंगलवार को एक प्रेस वार्ता का आयोजन कर केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह और खाद्य आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान ने सूबे में बढ़ी दाल की कीमतों के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जिम्मेदार ठहराया है। इन दोनों मंत्रियों का कहना है कि केंद्र सरकार की मदद के बावजूद मुख्यमंत्री ने दाल के उत्पादन पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया।

आपको बता दें कि राधामोहन सिंह और रामविलास पासवान दोनों की बिहार से ताल्लुक रखते हैं और बिहार विधानसभा में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका मानी जा रही है।

कृषिमंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि दालों पर राज्यों से आंकड़े लेकर रणनीति बनाते हैं। सस्ती दरों पर दाल मिलें इसके लिए नीतीश ने कोई कदम नहीं उठाया।  बिहार में दालों का उत्पादन कम हो रहा है। केंद्र से मदद के बाद भी दाल का उत्पादन गिरा। बिहार सरकार ने फंड का सही इस्तेमाल नहीं किया। नीतीश अपनी गलती छुपा रहे हैं। बढ़ी कीमतों के लिए वही जिम्मेदार हैं।

वहीं रामविलास पासवान ने कहा कि दाल उत्पादन कम होगा, यह हमें पहले से मालूम था। हम उत्पादन कम होने पर दालों का आयात करते हैं। हमने इससे संबंधित जानकारी हमने कई बार मांगी, लेकिन राज्य सरकार की ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया। सस्ती दरों पर दाल मिले इसके लिए राज्य सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। हमने कई बार पूछा लेकिन इन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।

इन दोनों मंत्रियों पर यह भी आरोप लगते रहे हैं कि चुनाव में अपनी व्यस्तता की वजह से दोनों मंत्रालयों ने दाल की कीमतों को काबू में करने के लिए ज़रूरी कदम उठाने में देरी की। नीतीश भी कई बार कह चुके हैं बिहार में बीजेपी की दाल नहीं गलने वाली।