ब्राजील दौरे पर निकले आजम दिल्ली से लौटे

लखनऊ| नगर विकास मंत्री व समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खां के रविवार को रामपुर से ब्राजील के दौरे पर निकलने व सोमवार को दिल्ली से वापस रामपुर लौट आने के फैसले का रहस्य चर्चा में है। चर्चा है कि एक अधिकारी की कारगुजारी से नाराज होकर उन्होंने दौरा रद्द कर दिया जबकि कुछ लोग इसे मंत्रिमंडल में फेरबदल की आहट से जोड़ रहे हैं। इससे इतर, आजम के मीडिया प्रभारी ब्राजील न जाने की वजह पंचायत चुनाव बता रहे हैं|

विदित हो कि आजम को कूड़ा प्रबंधन की बारीकियां सीखने के लिए मध्य ब्राजील के साओपोलो जाना था। उनके साथ जाने वालों में मुख्यमंत्री के विशेष सचिव प्रांजल यादव, सचिव नगर विकास एसपी सिंह, सूडा के निदेशक शैलेन्द्र कुमार सिंह समेत कई अन्य लोग जाने वाले थे| रविवार की दोपहर आजम खां रामपुर से दिल्ली के लिए रवाना हुए और उनके साथ जाने वाले अधिकारियों की टोली लखनऊ से दिल्ली के लिए निकली। दौरे की शुरुआत से पहले ही एक अधिकारी की किसी बात पर आजम खां बिफर गए और ब्राजील न जाने का निर्णय किया। उन्होंने वापस लखनऊ लौटने का संदेश भेजा। यहां सुरक्षाकर्मी अलर्ट हुए, लेकिन वह रामपुर रवाना हो गए। प्रतिनिधि मंडल में शामिल अन्य सभी ब्राजील चले गए।

{ यह भी पढ़ें:- लालू प्रसाद के बेटे की दिवाली पर सलाह, 'पटाखा से अच्छा बैलून फुलाइए और फोड़िए' }

ब्राजील न जाने पर मंत्री के मीडिया प्रभारी फसाहत अली खां शानू ने बताया कि प्रदेश में हो रहे पंचायत चुनाव के चलते उन्होंने अपना विदेश दौरा रद किया है। वैसे चर्चा इस बात की भी अपने चहेते अफसर एसपी सिंह को लेकर हाईकोर्ट के कड़े रुख को देखते हुए मंत्री दौरे पर नहीं गए हैं।

नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आजम खां ने अमेरिकी दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विदेशी उद्योगपतियों के सम्मान के मुद्दे पर घेरा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री स्वदेशी उद्योगपतियों को वही सम्मान देंगे जो उन्होंने अमेरिकी उद्योगपतियों को देने की बात कही है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि मोदी स्वदेशी उद्योगपतियों के लिए विदेशी तकनीक लाकर और देशवासियों को शामिल करके स्वदेशी का सपना साकार करेंगे ताकि कोई ईस्ट इंडिया कंपनी न आ सके और देश का पैसा विदेशों में न ले जा सके। मोदी अमेरिका जनता को खुशहाल करने के बजाय आत्महत्या कर रहे किसानों, जवानों और मां-बहनों के चेहरे से उदासी की लकीर मिटाने तथा मुस्कान लाने का संकल्प लेंगे।

{ यह भी पढ़ें:- अखिलेश की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में मुलायम के करीबियों को जगह, शिवपाल नदारद }