भारत-रूस मिलकर बनाएंगे नई ब्रह्मोस मिसाइल, जद में होगा पूरा पाकिस्तान

नई दिल्ली| भारत और रूस मिलकर ब्रह्मोस मिसाइल का नया संस्करण बनाने जा रहे हैं जिसकी जद में पूरा पाकिस्तान होगा| इस मिसाइल की मारक क्षमता 600 किलोमीटर होगी| इस मिसाइल से भारत पाकिस्तान के खिलाफ अपनी युद्धक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ दुश्मन के ठिकानों पर भी अचूक निशाना लगा पाएगा।




इस साल जून में मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम (एमटीसीआर) का सदस्य बनने से भारत को यह लाभ मिल रहा है क्योंकि एमटीसीआर के नियमों के तहत कोई भी सदस्य देश 300 से अधिक रेंज की मिसाइल गैर सदस्य देशों को न बेच सकते हैं, न ही उसका संयुक्त उत्पादन कर सकते हैं और न ही उसकी तकनीक दे सकते हैं|

एमटीसीआर का सदस्य बनने के बाद भारत के लिए अब ऐसा बाध्यता नहीं रही| गोवा समिट में भारत और रूस के बीच नई मिसाइल बनाने पर सहमति बनी है| ब्रह्मोस के मौजूदा मिसाइलों की मारक क्षमता 300 किमी तक ही है, और इससे पाकिस्तान के अंदर के ठिकानों को सही से निशाना बनाने में दिक्कत आ सकती है| हालांकि भारत के पास लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलें हैं लेकिन ब्रह्मोस के नए संस्करण में लक्षित ठिकाने को तबाह करने की क्षमता युद्ध की स्थिति में भारत के लिए बाजी पलटने वाली हो सकती है|



Loading...