मंदिर में गूंजी नूरजहाँ के बच्चे की किलकारियाँ, बेटे का नाम रखा जाएगा गणेश

मुंबई| देश की व्यवसायिक राजधानी मुंबई में सामाजिक सौहार्द की एक अच्छी खबर आई है। एक मुस्लिम महिला ने मंदिर में अपने बच्चे को जन्म दिया है। मुस्लिम महिला अपने बच्चे का नाम गणेश रखने जा रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, इलयाज (27) अपनी पत्‍नी को प्रसव पीड़ा होने पर अस्‍पताल ले जा रहा था। रास्‍ते में वाडाला के गणेश मंदिर के सामने अचानक उसकी पत्नी की हालत बिगड़ने लगी। यह देख टैक्‍सी ड्राइवर ने आगे जाने से मना कर दिया क्‍योंकि वो नहीं चाहता था कि बच्‍चा उसकी टैक्‍सी में जन्‍म ले।

टैक्सी चालक द्वारा मना किए जाने के बाद इलयाज अपनी पत्नी नूर जहां के साथ सड़क पर फंस गया। इलयाज को समझ में नहीं आ रहा था कि वह क्या करे। तभी उसने अपनी पत्नी को पास स्थित गणेश मंदिर में ले गया। पत्नी को मंदिर पहुंचाकर इलयाज दूसरी टैक्सी लाने चला गया।

मंदिर में उस समय मौजूद महिला श्रद्धालुओं ने मौके की नजाकत को समझा और वे नूर जहां को मंदिर के भीतर लेकर आईं। महिला श्रद्धालुओं ने आस-पास के घरों से चादर और साड़ियों की व्यवस्था की और नूर जहां का सफलतापूर्वक प्रसव कराया। थोड़ी देर में मंदिर का प्रांगण बच्चे की किलकारी से गूंज गया।

नूर जहां ने कहा, ‘मैं बच्चे को जन्म देने के करीब थी और मैं सड़क पर थी, यह सोचकर मैं काफी तनाव में थी। लेकिन मैंने देखा कि पास में एक मंदिर है। मैंने अनुभव किया ईश्वर की नजर हमारे ऊपर है। भगवान गणेश के सामने बच्चे को जन्म देने से अच्छी बात क्या हो सकती है? हम अपने बच्चे का नाम गणेश रखने जा रहे हैं।’