मुंबई लोकल ट्रेन ब्लास्ट मामला: पांच दोषियों को फांसी, सात को उम्रकैद की सजा

मुंबई ब्लास्ट फैसला: दो को उम्र कैद, दो को फांसी और एक को 10 साल कैद की सजा

मुंबई। मुंबई की लोकल ट्रेनों में 11 जुलाई 2006 को हुए श्रृंखलाबद्ध बम विस्फोटों के मामले में कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने इस मामले के 12 दोषियों में से पांच को फांसी जबकि सात को उम्रकैद की सजा सुनाई है। जिन दोषियों को फांसी की सजा मिली है वह कमाल अंसारी, आसिफ खान, नवेद, एहतेशाम मोहम्मद शेख हैं।

गौरतलब है कि विशेष न्यायाधीश यतिन डी शिंदे ने पिछले सप्ताह सजा पर दलीलों को लेकर सुनवाई पूरी की थी। तब अभियोजन पक्ष ने 12 में से आठ दोषियों को मौत की सजा देने की मांग की थी वहीं बाकी चार को उम्रकैद की सजा दिये जाने की मांग की गयी थी।  विशेष मकोका अदालत ने 23 सितंबर को मामले में सजा पर अपना आदेश 30 सितंबर के लिए सुरक्षित रखा था।

{ यह भी पढ़ें:- गौरी की बातों पर गौर फरमाए बिना क्या-क्या कह दिया, पढ़ तो लो भाई पहले }

इससे पहले अदालत ने 11 सितंबर को 13 में से 12 आरोपियों को दोषी करार दिया था और एक को बरी कर दिया था। । दोषियों में कमाल अहमद अंसारी (37), तनवीर अहमद अंसारी (37), मोहम्मद फैसल शेख (36), एहतेशाम मोहम्मद शेख  (30), मोहम्मद माजिद शफी (32), शेख आलम शेख (41), मोहम्मद साजिद अंसारी (34), मुजम्मिल शेख (27), सोहेल महमूद शेख (43), जमीर अहमद शेख (36), नवेद हुसैन खान (30) और आसिफ खान (38) हैं।

गौरतलब है कि 1 जुलाई, 2006 को मुंबई की लोकल ट्रेनों में हुए सीरियल विस्फोटों में 189 लोगों की मौत हो गई थी। जबकि 800 से अधिक लोग घायल हुए थे।

{ यह भी पढ़ें:- निठारी कांड: नर पिशाच कोली-पंढेर को फांसी, ये थी खौफनाक दास्तान }