मुख्यमंत्री की गैर-माजूदगी में नवनीत सहगल व रमारमण ने ग्रहण किया यूपी को मिला यह पुरस्कार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश को एक बार फिर उसकी विकासशीलता के लिए सम्मानित किया गया है। यह सम्मान हिंदुस्तान टाइम्स समूह के मिंट समाचार पत्र के द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश को दिया गया। मिंट समाचार पत्र ने उत्तर प्रदेश को देश का सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी राज्य बताया है। मिंट अखबार द्वारा आयोजित समारोह में यूपी को कम्यूनिकेशन व ह्यूमन कैपिसिटी के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए पुरस्कृत किया गया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की गैर-मौजूदगी में सूचना विभाग के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल व नोएडा के सीईओ रमारमण ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। इस बात की जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने दी है।

 बताया जा रहा है कि नौजवानों को डिजिटल तकनीक से जोड़ने व उद्योगों की जरूरतों के मुताबिक प्रशिक्षण देने का काम तेजी से शुरू कर दिया गया है जिसके चलते उत्तर प्रदेश विकास की सीढ़ीयों पर अग्रसर दिखाई दे रहा है। इसी  उन्नति  को देखते हुए उत्तर प्रदेश को यह पुरस्कार दिया गया है।

मिंट ने इस पुरस्कार के लिए यूपी का चयन हॉर्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर माइकल पोर्टर द्वारा सचालित इंस्टीट्यूट ऑफ कंपटिटिवनेस की मदद से किया।

आपको बता दे कि बीते दिनों वर्ल्ड बैंक ने भी अपने एक रिपोर्ट में यह बात दर्शाई थी कि यूपी में कारोबार का स्तर बढ़ रहा है। उसने अपनी रिपोर्ट में कारोबार के अनुकूल माहौल के आधार पर यूपी को देश में 10वें स्थान पर रखा था। केंद्र सरकार की संस्थान एरियास ने भी यूपी नेडा को 6 पुरस्कार से सम्मानित किया था। कार्यक्रम में दिल्ली व गोवा समेत कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे।