यह टेस्ट पास नहीं कर पाये रैना और युवराज इसलिए नहीं मिली टीम में जगह

नयी दिल्ली। श्रीलंका के खिलाफ होने वाली वनडे सीरीज के लिए युवराज सिंह और सुरेश रैना को नहीं चुना गया है टीम में न चुने जाने की वजह है इन दोनों द्वारा ‘यो-यो’ टेस्‍ट पास न कर पाना। गौरतलब है कि किसी सीरीज में टीम के चयन से पहले खिलाड़ियों को कई तरह के फिटनेस टेस्ट से गुजरना पड़ता है। इसी कारण मौजूदा भारतीय टीम को सबसे फिट टीम माना जाता है लेकिन टीम इंडिया के ये दोनों शीर्ष खिलाड़ी नेशनल क्रिकेट अकेडमी में यो-यो एंडुरेंस टेस्‍ट पास करने में असमर्थ रहे।

क्या होता है यो यो टेस्ट
टीम इंडिया लगातार कई तरह के फिटनेस टेस्ट से गुजरती है, पर इनमें ‘यो-यो’ टेस्ट सबसे महत्वपूर्ण है। इस टेस्ट में प्लेयर्स को छोटे से एरिया में कई लेवल पर दौड़ना पड़ता है। यह पुरानी दौर के फिटनेस टेस्ट से कई गुना बेहतर ‘बीप’ टेस्ट है। इसमें लगातार लेवल के साथ स्पीड बढ़ती जाती है जिसमें एक प्वाइंट को पैर से छूकर प्लेयर्स दूसरे प्वाइंट को छूता है। ऐसा लगातार चलता है। अगर समय पर प्वाइंट तक नहीं पहुंचे, तो 2 और ‘बीप’ के अंदर प्लेयर को स्पीड पकड़नी होती है। अगर प्लेयर दोनों प्वाइंट्स पर स्पीड नहीं पकड़ पाता, तो टेस्ट रोक दिया जाता है। यह पूरा टेस्ट सॉफ्टवेयर पर आधारित है, जिसमें स्कोर रिकॉर्ड होती है।

{ यह भी पढ़ें:- भारत ने ऑस्ट्रेलिया के सामने रखा 282 रनों का टारगेट, धोनी और पंड्या ने दिखाये जलवे }

यो-यो टेस्ट में मौजूदा भारतीय टीम के लिए 19.5 से ज्यादा स्कोर जरूरी होता है। इस टेस्ट में कप्तान विराट कोहली का स्कोर 21 रहा, वहीं युवराज और रैना ने बेहद खराब प्रदर्शन किया। युवराज का स्कोर सिर्फ 16 था। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, औसतन ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ी यो-यो टेस्ट में 21 का स्कोर करते हैं।

टीम इंडिया में विराट, रवींद्र जाडेजा, मनीष पांडे लगातार यह स्कोर हासिल कर रहे हैं, जबकि बाकी खिलाड़ियों का स्कोर या तो 19.5 है या उससे ज्यादा। उन्होंने यह भी कहा कि टीम इंडिया के थिंक टैंक रवि शास्त्री, कप्तान विराट कोहली और सिलेक्शन कमिटी के चेयरमैन एमएसके प्रसाद ने यह साफ कर दिया है कि फिटनेस के मानकों से कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

{ यह भी पढ़ें:- कंगारुओं से आज होगी विराट सेना की पहली टक्कर }