राशिद खुद पर स्याही फेंकने वालों पर दर्ज मामला लेंगे वापस

नई दिल्ली। बीते दिनों दिल्ली के प्रेस क्लब में दो युवकों द्वारा जम्मू कश्मीर के निर्दलीय विधायक शेख अब्दुल रशीद पर फेंके गए स्याही मामले में एक नया मोड देखने को मिला है। दरअसल, राशिद ने इस मामले में गिरफ्तार किए गए दोनों युवकों के खिलाफ दर्ज मामले को वापस लेने की बात कही है। उन्होने यह बात मंगलवार को कही।

मालूम हो कि बीते सोमवार को दिल्ली के प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता में पत्रकारों को सबोधित करने के दौरान दो युवकों ने राशिद पर बाल्टी से काली स्याही फेंक दी थी जिससे उनका पूरा चेहरा काला पद गया था। पुलिस ने स्याही फेंकने वाले दोनों युवकों को गिरफ्तार कर दिया था। बाद में इस घटना की ज़िम्मेदारी हिन्दू सेना ने ली थी।

अब राशिद ने गिरफ्तार युवकों के खिलाफ दर्ज मामला वापस लेने की बात कही है। राशिद ने बताया कि मैं उन दो लोगों (हमलावरों) के खिलाफ दर्ज मामला वापस ले रहा हूं, क्योंकि मेरा मानना है कि कुछ शरारती तत्वों ने भ्रमित कर रखा है। उन्होंने कहा कि वे ऐसा करने वाले इकलौते नहीं हैं। देश में ऐसे बहुत से लोग हैं। मुझे उनसे हमदर्दी है।

राशिद ने कहा कि सोमवार को प्रेस क्लब में मुझपर हुआ स्याही हमला कोई बड़ा मुद्दा नहीं है। मुख्य मुद्दा हल किए जाने की जरूरत है। उन्होंने देश को एक ‘तथाकथित लोकतंत्र’ बताते हुए कहा कि किसी को भी लोगों के मौलिक अधिकारों का हनन नहीं करना चाहिए।

आपको बता दें कि राशिद को पिछले दिनों गोमांस दावत देने पर जम्मू एवं कश्मीर विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायकों ने पीटा भी था और इसी दावत के विरोध में इन आरोपी युवकों ने उनपर स्याही फेंकी है।