रूस के फाइटर प्लेन्स ने सीरिया में ISIS के ठिकानों पर किये हमले

नई दिल्ली। रूस के फाइटर प्लेन्स ने सीरिया में आईएस के ठिकानों पर हवाई हमले शुरू कर दिए हैं। रूसी विमानों के हमलों में 32 लोगों के मारे जाने की खबर है। रूस का दावा है कि हमले आईएसआईएस के आतंकी ठिकानों को निशाना बनाकर किए जा रहे हैं जबकि रूसी हमलों का विरोध करने वालों का दावा है कि ये हमले आईएसआईएस के खिलाफ ना होकर , सीरिया की असद सरकार के विरोध में खड़े धड़े के खिलाफ है।

रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने बताया कि यह कदम एक चेतावनी है कि आईएस के आतंकवादी रूस को निशाना बनाए, उससे पहले ही मास्को उसके पीछे पड़ जाएगा। उन्होंने कहा, “अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद से लड़ने का एकमात्र सही तरीका है कि पहले से लड़ाकों और आतंकवादियों पर कार्रवाई करना, उन क्षेत्रों में ही उनसे लड़ना और उन्हें नष्ट करना, जहां उन्होंने पहले से ही कब्जा जमा रखा है, न कि इस बात का इंतजार करना कि वे हम तक पहुंचें।”

उधर, सीरिया में रूसी कार्रवाई के बाद, एक बार फिर अमेरिका और रूस के रिश्तों में तल्खी दिखाई दे रही है। दोनो देश आमने सामने हैं। बताया जा रहा है कि रूसी जेट विमानो ने बमबारी के लिए सीरिया की सरहद लांघने से पहले, अमेरिका जंगी जहाजों के इलाके से हटने के लिए महज 1 घंटे का वक्त दिया। सीरिया पर हमले से पहले रूस की पार्लियामेंट ने एक प्रस्ताव पास कर, प्रेसिडेंट व्लादिमीर पुतिन को बमबारी की इजाजत दी थी।

Loading...