रेप केस में 15 साल तय हो नाबालिग की उम्र: अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली| दिल्ली में मासूम बच्चियों के साथ रेप की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने जघन्य अपराधों में नाबालिग की उम्र कम कर 15 साल रखने की वकालत की है। इतना ही नहीं केजरीवाल ने नया कानून भी लाने की बात कही।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में महिलाओं के खिलाफ अपराध विशेषकर रेप बढ़ने की एक मुख्य वजह बदमाशों के दिलों में कानून का खौफ न होना है। केजरीवाल ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि सारे बुरे लोग दिल्ली में ही रहते हैं और कोलकाता, न्यूयॉर्क, लंदन या वाराणसी जैसी जगहों पर रहने वाले लोग साधु-संत हैं। फर्क बस इतना है कि दिल्ली में कानून का डर नहीं है।”

केजरीवाल ने कहा कि रेप की घटनाओं के जल्द निस्तारण के लिए विशेष अभियोक्ता नियुक्त किए जाएंगे। दिल्ली की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए, केजरीवाल ने कहा कि अपराधियों में कानून के प्रति भय कम हुआ है। इसी वजह से रेप करने वाला सोचता है कि उसे कुछ नहीं होगा। उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों से जुड़े मामलों के जल्द निपटारे के लिए दिल्ली में और फास्ट ट्रैक अदालतें होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि फास्ट ट्रैक अदालतों की संख्या बढ़ाने के बारे में दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से विचार-विमर्श किया जाएगा और उनकी सरकार इसे साकार करने में हरसंभव मदद देगी। केजरीवाल ने कहा, “सरकार फास्ट ट्रैक अदालतों की संख्या बढ़ाने की दिशा में धनराशि आवंटित करने के लिए तैयार है। हम दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश की मदद लेंगे।”