वाराणसी के कांग्रेस विधायक अजय राय पर लगी रासुका

लखनऊ। वाराणसी में गणेशोत्सव के दौरान गंगा में मुर्तिविसर्जन पर लगे प्रतिबंद को लेकर धरने पर बैठे धर्मगुरू स्वामी अविमुक्तेश्वरानन्द व अन्य साधुओं की पिटाई के विरोध में हुए एक अन्य प्रदर्शन में सामने आई हिंसा के मामले में गिरफ्तार चल रहे कांग्रेस विधायक अजय राय के खिलाफ यूपी पुलिस ने रासुका लगाने का फैसला किया है। वर्तमान में राय फर्रुखाबाद जिले की फतेहगढ़ जेल में बंद हैं।

5 अक्टूबर को वाराणसी में धर्मगुरू स्वामी अविमुक्तेश्वरानन्द व अजय राय के नेतृत्व में प्रदर्शन कर रहे लोगों और पुलिस के बीच हुई हिंसक झडप के बाद  पुलिस ने 6 अक्टूबर को अजय राय की गिरफ्तारी की थी। उनके साथ धर्मगुरू स्वामी अविमुक्तेश्वरानन्द समेंत 56 लोगों को पुलिस ने नामजन किया था। जिनमें से 48 लोगों की गिरफ्तारी प्रदर्शन स्थल से 5 अक्टूबर को की गई थी।

पिंडरा विधानसभा सीट से विधायक राय पर वाराणसी पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को भड़काने का आरोप लगाए थे।

आपको बता दें कि 5 अक्टूबर को वाराणसी के गोदउली चौक पर प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें कई  सरकारी वाहनों,  पुलिस की जीप और बाइकों को उग्र प्रदर्शनकारियों ने आग के हवाले कर दिया था और कई पुलिस कर्मी भी हिंसा में घायल हुए थे। इस मामले में यूपी पुलिस के जवानों पर बाइकों को जलाने और पत्रकारों को पीटने के आरोप लगे थे।