शशांक मनोहर का बीसीसीआई अध्यक्ष बनना लगभग तय  

मुंबई। जगमोहन डालमिया के निधन के बाद खाली हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष पद का नया चेहरा लगभय तय हो चुका है। दरअसल, विदर्भ के कद्दावर वकील और सीनियर खेल प्रशासक शशांक मनोहर का रविवार को मुम्बई में होने वाली बोर्ड के विशेष आम बैठक (एसजीएम) में दूसरी बार भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का अध्यक्ष चुना जाना तय है। मनोहर इस पद के लिए अकेले उम्मीदवार हैं। वह इससे पहले भी 2008 से 2011 तक बीसीसीआई अध्यक्ष रह चुके हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, शनिवार को शाम तीन बजे तक उम्मीदवारी दायर करने का समय निर्धारित किया गया था लेकिन समयसीमा समाप्त होने तक मनोहर के अलावा किसी अन्य ने अपनी उम्मीदवादर्ज नहीं करवाई ।

मनोहर पूर्व क्षेत्र से अध्यक्ष पद के दावेदार हैं। पूर्व क्षेत्र के सभी छह क्रिकेट संघों ने बंगाल क्रिकेट संघ के नेतृत्व में मनोहर के समर्थन दिया है। बोर्ड अध्यक्ष पद जगमोहन डालमिया के निधन के बाद खाली हुआ है। मालूम हो कि डालमिया का 20 सितम्बर को कोलकाता में निधन हो गया था। वह 75 साल के थे। डालमिया पहले ऐसे बीसीसीआई अध्यक्ष थे, जो पद पर रहते हुए मृत्यु को प्राप्त हुए। 

बीसीसीआई के संविधान के मुताबिक अध्यक्ष की मृत्यु की तारीख के 15 दिनों के भीतर एसजीएम के जरिए नए अध्यक्ष का चयन किया जाता है। बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर ने कहा है कि मनोहर इस पद पर अकेले उम्मीदवार हैं। पेशे से वकील मनोहर इससे पहले 2008 से 2011 तक बीसीसीआई अध्यक्ष रह चुके हैं। मनोहर को ठाकुर और शरद पवार गुट का समर्थन प्राप्त है। इन दोनों गुटों के पास कुल 29 में से 21 से अधिक मत हैं।