शौचालय के गड्ढे में गिरा मासूम, मौत

सुलतानपुर: अपनी मां के साथ विद्यालय में आये मासूम को काल ने अपना ग्रास बना लिया। विद्यालय में कार्यरत आंगनवाड़ी सहायिका का बेटा खेलते-खेलते शौचालय के गड्ढे में जा गिरा। काफी देर तक उसका पता नहीं लगा। खोजबीन के दौरान वह गड्ढे में गिरा दिखायी दिया। उसे गड्ढे से निकाला गया। लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में ले लिया है।

बल्दीराय थाना क्षेत्र के नियावा मजरे बघौना में स्थित प्राथमिक विद्यालय में आंगनवाड़ी सहायिका के रूप में रेखा पत्नी राजेश कुमार कार्यरत है। शनिवार को वह अपने दो वर्षीय बेटे दिव्यांश को लेकर स्कूल आयी। वह बच्चों की देखरेख व पढ़ाने में व्यस्त हो गयी। तभी मासूम दिव्यांश खेलते-खेलते विद्यालय के पास खुदे शौचालय के गड्ढे पर जा पहुंचा।

जिससे वह गड्ढे में गिर गया। काफी देर बाद जब दिव्यांश नहीं दिखायी दिया। तो रेखा ने इधर-उधर खोजा। लेकिन उसका पता नहीं लगा। इससे विद्यालय में हडकम्प मच गया। बच्चों व शिक्षकों के साथ ही मौजूद ग्रामीणों ने खोजबीन शुरू की। तो उनकी नजर गड्ढे में पड़ी। जहां दिव्यांश गिरा पड़ा था। लोगों ने उसे गड्ढे से निकाला। लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इस घटना से विद्यालय में सन्नाटा पसर गया। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पंचनामा कराया।

सुल्तानपुर से बृजेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट