सब इंस्पेक्टर पद की परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक करने के मामले में छह गिरफ्तार

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में क्राइम ब्रांच ने 2016 में एसएससी के आयोजित केंद्रीय पुलिस संगठन में सब इंस्पेक्टर पद की परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक करने के आरोप में कुल छह आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दबोचे गए आरोपियों के नाम मनीष तिवारी, मनीष, जान मोहम्मद, राजा शर्मा, शंभू शरण तथा विकास हैं। पुलिस ने विपिन व सोनू को पिछले साल दबोचा था, जबकि एक अन्य की गिरफ्तारी अभी नहीं हो पाई है।





पुलिस ने गहन जांच के बाद दावा किया कि दबोचे गए अधिकांश आरोपी बिहार के रहने वाले हैं और इन लोगों ने खुलासा किया कि पटना के रहने वाले राकेश कुमार ने प्रश्नपत्र हल कर व्हाट्सएप के जरिए आगे भेजा था। पुलिस मुख्य आरोपी की तलाश में है। पुलिस उपायुक्त मधुर वर्मा के मुताबिक एसएससी के अध्यक्ष आशिम खुराना ने क्राइम ब्रांच से शिकायत की थी कि केंद्रीय पुलिस संगठन में सब इंस्पेक्टर पद पर चयन के लिए आयोजित परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक हुआ है। क्राइम ब्रांच ने इंस्पेक्टर संजीव यादव की शिकायत पर एक अप्रैल 2016 को मामला दर्ज किया। बताया जाता है कि जिस दिन परीक्षा आयोजित की गई थी, उसी दिन मामले की शिकायत क्राइम ब्रांच से की गई थी। गहन छानबीन में पुलिस टीम को पता चला कि यह प्रश्नपत्र एक व्हाट्स एप ग्रुप पर भेजा गया। इस ग्रप का नाम ‘‘माई स्टूडेंट आफ उत्तम नगर’ है।

पुलिस को जानकारी मिली कि बिपिन कुमार नामक युवक ने ग्रुप में यह प्रश्नपत्र डाला था। क्राइम ब्रांच ने विपिन कुमार को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि बिहार के सिवान निवासी सोनू सिंह ने उसे यह प्रश्नपत्र भेजा था। बाद में दबोचे गए सोनू ने खुलासा किया कि उसे यह प्रश्न पत्र मनीष कुमार तिवारी ने भेजा था। पुलिस मनीष को पकड़ने उसके घर बीहार भी गई, लेकिन वह फरार हो गया। हालांकि इसी साल 15 फरवरी को पुलिस ने मनीष को धर दबोचा। मनीष ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उसे सिवान के तरवारा के रहने वाले एक अन्य मनीष कुमार राम ने यह प्रश्न पत्र भेजा था। इस जानकारी पर पुलिस ने इस मनीष को भी गिरफ्तार कर लिया।




दबोचे गए मनीष से पता चला कि उसके पास यह प्रश्नपत्र जान मोहम्मद ने भेजा था। इसके बाद जान मोहम्मद को भी पुलिस ने पकड़ लिया। उसने पुलिस को बताया कि प्रश्नपत्र लीक करने में राजा कुमार शर्मा, राजेश व शंभू शामिल हैं और पुलिस ने गोपालगंज निवासी राजा शर्मा और नालंदा निवासी शंभू शरण को भी गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि नालंदा का रहने वाला विकास चंद्र बोस प्रश्न पत्र लीक करने के लिए जिम्मेवार है और पुलिस ने विकास को भी धर दबोचा।

पुलिस ने दावा किया कि गहन पूछताछ में यह पाया गया है कि साल 2014 में दिल्ली पुलिस की सिपाही परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक करने में भी विकास शामिल रहा है। उसने पुलिस को बताया कि इस पूरे मामले का मुख्य सरगना पटना निवासी राकेश कुमार है। पुलिस राकेश की तलाश में है।