सामने आए गीता के एक और माता-पिता 

लखनऊ। एक लड़की जो एक दशक से भी ज्यादा समय से लापता थी। यह लड़की न तो बोल सकती है और न ही सुन सकती है। बाद में सीमा पार दूसरे देश से खबर आती है कि भारत में रहने वाली एक मूक-बधिर लड़की पिछले कई वर्षों से रह रही है। अब भारत ने उसे वापस देश में लाने की तैयारी भी पूरी कर ली है। उसके परिवार की भी तलाश कर ली गई है जो बिहार में रहता है। यहाँ तक कि इस लड़की ने भी अपने परिवार के सदस्यों की फोटो पहचान ली है, लेकिन यह क्या… उत्तर प्रदेश रहने वाला परिवार तो इसे अपनी बेटी बता रहा है।

जी हाँ, हम बात कर रहे हैं पिछले कई वर्षों से पाकिस्तान में रहने वाली मूक-बधिर गीता की, जो कई वर्षों पहले छोटी सी उम्र में अनजाने में सीमा पार कर पाकिस्तान पहुँच गई थी और वहाँ लाहौर में ईदी फाउंडेशन नाम का संगठन पिछले 14 वर्षों से उसकी देख-रेख कर रहा है। इस लड़की ने अपने माँ-बाप और भाई–बहन की फोटो की पहचान कर ली है। भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उसे जल्द ही वासप भारत लाने की बात भी कह दी है।

वहीं बिहार के परिवार के अलावा उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में रहने वाले एक परिवार ने भी गीता पर अपना हक जताया है। दरअसल, प्रतापगढ़ में रहने वाले राजाराम गौतम और उनकी पत्नी अनारा का कहना है कि गीता हमारी बेटी सविता ही है। सरकार गीता पर दावा करने वाले सभी परिवारों का डीएनए टेस्ट कराए तो सबकुछ साफ हो जाएगा। गीता बचपन में ही खोई थी, इसलिए परिवार को पहचानने में भूल कर सकती है।     

अनारा देवी ने कहा कि वर्ष 2004 में मेरे भाई के घर छपरा में शादी समारोह था। पूरा परिवार छपरा गया था। वापस आने लगे तो गीता अपने मामा के घर रुक गई। कुछ दिन बाद वह लापता हो गई। हमने कई महीनों तक उसकी बहुत तलाश की। छपरा जिले में गुमशुदगी का मुकदमा भी दर्ज कराया था। तब वह आठ साल की थी। वह गूंगी-बहरी है।

बहरहाल, गीता चाहे बिहार में रहने वाले परिवार की बेटी हो या फिर यूपी में रहने वाले राजाराम गौतम की, विदेश मंत्री ने यह बात पहले ही साफ कर दी है कि डीएनए टेस्ट के बाद ही गीता को उसके परिवार को सौंपा जाएगा। पहले तो देखना है कि आखिर पाकिस्तान से भारत पहुँचने में गीता को कितना समय लगेगा। उसके बाद अब इस बात पर भी खासा ध्यान देना होगा कि गीता आखिर में हैं किसकी बेटी?

आपको बता दें कि गीता के पाकिस्तान में होने की खबर उस वक्त आई थी जब इस साल जुलाई में बॉलिवुड फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ रिलीज हुई थी। इस फिल्म में एक्टर सलमान खान एक ऐसी ही बच्ची को पाकिस्तान छोड़ कर आते हैं। मीडिया में गीता की खबर आने के बाद भारत सरकार ने इसका नोटिस लिया था। विदेश मंत्रालय के आदेश पर इस्लामाबाद में इंडियन हाई कमीशन के अफसर गीता से मिलने कराची गए थे।