सीएम योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला, कैबिनेट बैठक में मोबाइल फोन ले जाने पर लगी पाबंदी!

yogi
सीएम योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला, कैबिनेट बैठक में मोबाइल फोन ले जाने पर लगी पाबंदी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनात्थ ने शनिवार को बड़ा फैसला लिया है। कैबिनेट बैठकों के दौरान मंत्रियों के मोबाइल फोन ले जाने पर उन्होंने पाबंदी लगा दी है। बताया जा रहा है कि ​कैबिनेट बैठक के दौरान जासूसी और उपकरणों की हैकिंग के खतरे को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। हालांकि इससे पहले मंत्रियों को मोबाइल ले जाने की अनुमति थी लेकिन उसे स्विच ऑफ करने या साइलेंट मोड पर रखना होता था।

%e0%a4%b8%e0%a5%80%e0%a4%8f%e0%a4%ae %e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%97%e0%a5%80 %e0%a4%86%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%a5 %e0%a4%95%e0%a4%be %e0%a4%ac%e0%a4%a1 :

बताया जा रहा है कि, मंत्रियों को दिए आदेश में कहा गया है कि अब कैबिनेट बैठक के दौरान मंत्री और अधिकारी अपना मोबाइल फोन नहीं ला सकेंगे। उन्हें अपना मोबाइल फोन बाहर जमा करना होगा। सीएम योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि मंत्रिमंडल की बैठकों में होने वाली चर्चा पूरी गंभीरता व बिना किसी व्यवधान के हो। कैबिनेट बैठक के दौरान मोबाइल फोन बजने से दिक्कतों का भी सामना करना पड़ता है।

वैसे कुछ मंत्री सीएम द्वारा बुलाई बैठकों में जाने से पहले अपने निजी सचिवों को थमा देते हैं लेकिन यह काम उन्हें भूतल पर ही करना होता है। नई व्यवस्था में मंत्रियों को कोई असुविधा न हो, इसके लिए टोकन की व्यवस्था की गई है। इसका जिम्मा सामान्य प्रशासन विभाग को दिया गया है। इसके तहत जब मंत्री मंत्रिपरिषद कक्ष में सीएम द्वारा बुलाई गई बैठकों में जाएंगे तो वह मोबाइल फोन टोकन लेकर बाहर जमा कराएंगे। बाद में कक्ष से बाहर आने पर टोकन के जरिए उसे वापस ले सकेंगे।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनात्थ ने शनिवार को बड़ा फैसला लिया है। कैबिनेट बैठकों के दौरान मंत्रियों के मोबाइल फोन ले जाने पर उन्होंने पाबंदी लगा दी है। बताया जा रहा है कि ​कैबिनेट बैठक के दौरान जासूसी और उपकरणों की हैकिंग के खतरे को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। हालांकि इससे पहले मंत्रियों को मोबाइल ले जाने की अनुमति थी लेकिन उसे स्विच ऑफ करने या साइलेंट मोड पर रखना होता था। बताया जा रहा है कि, मंत्रियों को दिए आदेश में कहा गया है कि अब कैबिनेट बैठक के दौरान मंत्री और अधिकारी अपना मोबाइल फोन नहीं ला सकेंगे। उन्हें अपना मोबाइल फोन बाहर जमा करना होगा। सीएम योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि मंत्रिमंडल की बैठकों में होने वाली चर्चा पूरी गंभीरता व बिना किसी व्यवधान के हो। कैबिनेट बैठक के दौरान मोबाइल फोन बजने से दिक्कतों का भी सामना करना पड़ता है। वैसे कुछ मंत्री सीएम द्वारा बुलाई बैठकों में जाने से पहले अपने निजी सचिवों को थमा देते हैं लेकिन यह काम उन्हें भूतल पर ही करना होता है। नई व्यवस्था में मंत्रियों को कोई असुविधा न हो, इसके लिए टोकन की व्यवस्था की गई है। इसका जिम्मा सामान्य प्रशासन विभाग को दिया गया है। इसके तहत जब मंत्री मंत्रिपरिषद कक्ष में सीएम द्वारा बुलाई गई बैठकों में जाएंगे तो वह मोबाइल फोन टोकन लेकर बाहर जमा कराएंगे। बाद में कक्ष से बाहर आने पर टोकन के जरिए उसे वापस ले सकेंगे।