सीबीआई ने यादव सिंह व उनके गैंग के लोगों के 12 ठिकानो में की छापेमारी

लखनऊ। भ्रष्टाचार का दामन थामकर अकूत संपत्ति के मालिक बन बैठे नोएडा प्राधिकरण के निलंबित चीफ इंजीनियर यादव सिंह की मुश्किलें थमने का नाम ही नहीं ले रही है। दरअसल, सीबीआई ने एक बार फिर यादव के खिलाफ सबूत खँगालने के लिए छापेमारी की है। सीबीआई ने इस बार दिल्ली व गाजियाबाद में यादव सिंह और उनसे जुड़े लोगों के 12 ठिकानों पर छापेमारी की।

मालूम हो कि सामाजिक कार्यकत्री डॉ. नूतन ठाकुर की याचिका पर मोहर लगाते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बीते अगस्त माह माह में इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी थी। तब से अब तक सीबीआई ने यादव सिंह के घर से लेकर ससुराल तक को खंगाल डाला है। यहाँ तक कि सीबीआई ने यादव सिंह के खेतों और ज़मीनों के दस्तावेजों को भी नहीं छोड़ा है।

इसी क्रम में गुरुवार को सीबीआई ने यादव सिंह के खिलाफ सबूतों की तलाश में फिर से छापेमारी की। उन्होने यादव सिंह व उनके गैंग से जुड़े लोगों के 12 ठिकानों को खंगाला है। यह छापेमारी दिल्ली और गाजियाबाद क्षेत्र में की गई। सूत्रों का कहना है कि सीबीआई जल्द ही इस मामले में बड़ा खुलासा कर सकती है।  

आपको बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्देश के बाद इस मामले की जांच कर रही सीबीआई ने अभी तक इस घोटाले को लेकर दो एफआईआर दर्ज की है, जिसमें पहली एफआईआर में यादव सिंह को आरोपी बनाया गया था, जबकि दूसरी एफआईआर में उनके परिवार के सदस्यों व पार्टनर को आरोपी बनाया गया है।