सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, अब महाराष्ट्र में दोबारा खुलेगें डांस बार

मुंबई| सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा फैसला सुनाते हुये महाराष्ट्र में डांस बारों मे लगे प्रतिबंध को हटा दिया है| सुप्रीम कोर्ट ने वर्ष 2014 मे डांस बारों के खिलाफ बनाए गए कानून पर रोक लगा दी है| डांस बारों पर प्रतिबंध के बाद हजारों महिलाएं रोजी-रोटी के लिए भटक रहीं थी| देश में यह कानून एक बहस का मुद्दा बन चुका था|     

कोर्ट ने अपने फैसले मे कहा कि डांस बार चलेगे लेकिन किसी प्रकार की कोई फूहड़ता नहीं होगी| फिलहाल कोर्ट का यह एक अन्तरिम आदेश है| इस मामले मे सुनवाई चलती रहेगी| अगली सुनवाई 5 नवंबर को होनी है| गौरतलब है कि सरकार ने इन बारों को वैश्यावृत्ति का ठिकाना बताते हुये इस पर रोक लगाने की मांग की थी|     

इसी मामले मे कार्यवाई करते हुये पुलिस ने वर्ष 2005 में कई बारों को सील किया जिसमे पांच सितारा होटलों को छोड़ दिया गया था। वहीं वर्ष 2013 मे सुप्रीम कोर्ट ने डांस बार को चलने देने का आदेश दिया लेकिन जून 2014 मे महाराष्ट्र विधानसभा ने इन डांस बारों  पर प्रतिबंध लगाने के लिए एक कानून पारित कर दिया गया|

सभी राजनीतिक दलों ने इस कानून को सर्व सम्मति से पारित कर दिया| सबका यही मानना था कि डांस बार बंद होने ही चाहिए| गौरतलब है कि मुंबई 700  से ज्यादा डांस बार हैं| जहां करीब जहां 75 हज़ार से ज्यादा महिलाएं गानों की धुनो पर नाच कर अपनी रोजी रोटी चला रही थी| लेकिन बारों पर लगे प्रतिबंध के बाद उनके पास कोई काम नहीं था|  

डांस बार पर प्रतिबंध के बाद डांस बार यूनियन ने इस बात का विरोध करते हूए कहा कि अगर महिलाओं के नाचने पर प्रतिबंध लगाया गया तो महिलाएं वैश्यावृत्ति करने के लिए मजबूर हो जाएंगी। इसलिए इस पर से रोक हटाई जानी चाहिए|  

 

Loading...