सोनभद्र हत्याकांड : पीड़ितों से मिलने के बाद बोलीं प्रियंका-मेरा मकसद पूरा

priyanka 1
पीड़ितों से मिलने के बाद बोलीं प्रियंका-मेरा मकसद पूरा, पीड़ित परिजनों को 10-10 लाख देगी कांग्रेस

मिर्जापुर। सोनभद्र हत्याकांड में पीड़ित परिजनों से ​मुलाकात करने के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपना धरना खत्म कर दिया है। पीड़ित परिजनों से करीब दो घण्टे तक मुलाकात की। इस दौरान पीड़ित महिलाएं प्रियंका गांधी से लिपटकर रोने लगीं। पीड़ित परिजनों ने प्रियंका को अपना दुख बताया। पीड़ित परिजनों ने कहा कि, उनके ऊपर गलत तरीके से मुकदमें दर्ज किये गये, ताकि वह जमीन छोड़ ​दें। उन्हें प्रताड़ित किया गया।

%e0%a4%b8%e0%a5%8b%e0%a4%a8%e0%a4%ad%e0%a4%a6%e0%a5%8d%e0%a4%b0 %e0%a4%b9%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%a1 %e0%a4%aa%e0%a5%80%e0%a4%a1%e0%a4%bc%e0%a4%bf :

प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिजनों की सुरक्षा के लिए शासन ने मांग की है। उन्होंने कहा कि, पीड़ित परिजनों को आर्थिक मदद के साथ दोषियों पर सरकार सख्त कार्रवाई करे। वहीं इस दौरान कांग्रेस ने पीड़ित परिजनों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। बता दें कि, प्रियंका गांधी को प्रशासन ने हिरासत में लेकर चुनार गेस्ट हाउस में रोक दिया था। यहां ​व​ह बीती रात रूकीं थीं।

इस दौरान वह पीड़ित परिजनों से मिलने की बात पर अड़ीं थीं। इस बीच पीड़ित परिवार शनिवार सुबह खुद प्रियंका गांधी से मिलने के लिए चुनार गेस्ट हाउस पहुंचे, जहां प्रशासन ने उन्हें रोक लिया था। हालांकि बाद में प्रशासन ने उन्हें प्रियंका गांधी से मिलने के लिए भेजा। पीड़ित परिजनों से मिलने के बाद प्रियंका ने कहा कि मेरा मकसद पूरा हुआ और हमारी कुछ मांगे हैं।

उन्होंने कहा कि, पीड़ित परिजनों को 25 लाख मुआवजा दिया जाए, मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाए, पीड़ितों को जमीन का मालिकाना हक मिले और निर्दोषों पर किए गए झूठे मुकदमे वापस लिया जाए। कांग्रेस भी पीड़ितों की आर्थिक मदद करेगी।

मिर्जापुर। सोनभद्र हत्याकांड में पीड़ित परिजनों से ​मुलाकात करने के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपना धरना खत्म कर दिया है। पीड़ित परिजनों से करीब दो घण्टे तक मुलाकात की। इस दौरान पीड़ित महिलाएं प्रियंका गांधी से लिपटकर रोने लगीं। पीड़ित परिजनों ने प्रियंका को अपना दुख बताया। पीड़ित परिजनों ने कहा कि, उनके ऊपर गलत तरीके से मुकदमें दर्ज किये गये, ताकि वह जमीन छोड़ ​दें। उन्हें प्रताड़ित किया गया। प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिजनों की सुरक्षा के लिए शासन ने मांग की है। उन्होंने कहा कि, पीड़ित परिजनों को आर्थिक मदद के साथ दोषियों पर सरकार सख्त कार्रवाई करे। वहीं इस दौरान कांग्रेस ने पीड़ित परिजनों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। बता दें कि, प्रियंका गांधी को प्रशासन ने हिरासत में लेकर चुनार गेस्ट हाउस में रोक दिया था। यहां ​व​ह बीती रात रूकीं थीं। इस दौरान वह पीड़ित परिजनों से मिलने की बात पर अड़ीं थीं। इस बीच पीड़ित परिवार शनिवार सुबह खुद प्रियंका गांधी से मिलने के लिए चुनार गेस्ट हाउस पहुंचे, जहां प्रशासन ने उन्हें रोक लिया था। हालांकि बाद में प्रशासन ने उन्हें प्रियंका गांधी से मिलने के लिए भेजा। पीड़ित परिजनों से मिलने के बाद प्रियंका ने कहा कि मेरा मकसद पूरा हुआ और हमारी कुछ मांगे हैं। उन्होंने कहा कि, पीड़ित परिजनों को 25 लाख मुआवजा दिया जाए, मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाए, पीड़ितों को जमीन का मालिकाना हक मिले और निर्दोषों पर किए गए झूठे मुकदमे वापस लिया जाए। कांग्रेस भी पीड़ितों की आर्थिक मदद करेगी।