सोमनाथ को दोहरा झटका, सुप्रीम कोर्ट से नही मिली जमानत, लिपिका का समझौते से इंकार

नई दिल्ली। दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री सोमनाथ भारती की मुश्किलें कम होने का नाम नही ले रही हैं। एक तरह जहां सुप्रीम कोर्ट ने आज सोमनाथ भारती की मानत याचिका खारिज करते हुए उन्हे फिर से निचली अदालत जाने की सलाह दी वहीँ, उनकी पत्नी लिपिका ने उनसे किसी भी तरह का समझौता करने से इंकार कर दिया है। सीजेआई द्वारा मध्‍यस्‍था के बारे में पूछे जाने पर लिपिका ने कहा कि ‘बिलकुल नहीं’, वे मध्‍यस्‍था के लिए तैयार नहीं हैं। पत्नी के इंकार और सुप्रीम कोर्ट के जमानत याचिका खारिज करने के बाद सोमनाथ भारती को फिलहाल जेल में ही रहना होगा।

क्या हैं आरोप

भारती की पत्नी लिपिका मित्रा ने अपने पति के खिलाफ 10 जून को दिल्ली महिला आयोग में शिकायत की थी। इसमें भारत पर आरोप लगाया गया था कि वह 2010 में शादी के बाद से ही उनके साथ अभद्र व्यवहार कर रहे हैं। लिपिका ने इस संबंध में दिल्ली पुलिस में भी शिकायत दर्ज करवाई।

पुलिस ने इसी शिकायत के आधार पर भारती के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। भारती के खिलाफ हत्या के प्रयास, पत्नी के प्रति क्रूरता, खतरनाक हथियार से चोट पहुंचाने, महिला की सहमति के बगैर ही गर्भपात कराने का प्रयास, धोखाधड़ी और आपराधिक तरीके से डराने धमकाने के आरोपों में प्राथमिकी दर्ज है।