1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. हमेशा रहना चाहतें हैं खुश, तो इन 5 चीजों से जरूर कर लें तौबा

हमेशा रहना चाहतें हैं खुश, तो इन 5 चीजों से जरूर कर लें तौबा

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: जैसे किसीको खांसी खाने की आदत होती है, किसीको ऊंची आवाज़ से बात करने की आदत होती है, और किसीको नाक में उंगली डालने की आदत होती है। ये बाते अक्सर लोगो को सामान्य लगती है । पर आपको बता दे की ये सारी आदतों की गिनती बुरी आदतों में गिनी जाती है।

पढ़ें :- Winter vegetables: हरी पत्तेदार सब्जियां ठंड में आपको रखेगी चुस्त दुरुस्त, बीमारियां रहेंगी कोसों दूर

मेंस हेल्थ डॉटकॉम के अनुसार ये बुरी आदतें हमें बीमार करतीं है और कभी मुश्किल में भी डाल सकती है। चलिए देखते है वो कौनसी बुरी आदतें है।

आंख रगड़ना

आँख को बार बार रगड़ने से फेरोटोफोनल नाम की बीमारी हो जाती है, जिससे आँखों की रौशनी कम होने लगती है । हाँ चश्मा पहनने से इसका इलाज़ हो सकता है, लेकिन लेंस इस्तेमाल करने वालों के लिये ये बेहद तकलीफ देह है । आँख रगड़ने से आँखों के भीतर गहरा जख्म हो जाता है और आप अंधे भी हो सकते है ।

चेहरा को बार बार रगड़ना

पढ़ें :- विश्व एड्स दिवस 2021: जानिए तिथि, इतिहास, विषय और एचआईवी के शुरुआती लक्षण

हम दिन में कई बार अपना चेहरा छूते है और रगड़ते है। लेकिन अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ हेल्थ के अध्यन ने ये दावा किया है कि हमारें घर और ऑफिस में कीड़ों का भंडार होता है, जिन्हे छूकर हम चेहरे को छूते है जिससे हमारे चेहरे पर पिंपल और फुंसी आने lलगते है और हमारा चेहरा भद्दा लगने लगता है ।

 ज्यादा देर बैठे रहना

अक्सर घर या ऑफिस में काम करने की वजह से आपको ज्यादातर बैठे रहना पड़ता है । पर क्या आप जानते है की ये आदत आपको मौत के घाट उतार सकती है?  ज्यादा समय तक बैठने से आपके खून का आवागमन धीमा हो जाता है और आप हार्टअटैक, डायबिटीज़, शुगर,  हाई लो बीपी जैसी कई बिमारियों का शिकार हो सकते है । कोशिश करें कि हर घंटे बाद कुछ देर चले ।

तितर बितर ऑफिस

निनेसोस यनिवर्सिटी के शोध के मुताबिक साफ सफाई का असर निर्णय क्षमता पर होता है । शोध के दौरान ये पाया गया है कि तितात बितर ऑफिस हमारे काम को बढाता है, जिससे हमारा वक़्त ज्यादा बर्बाद होता है और हमारे सारे महत्वपूर्ण काम नहीं हो पाते।

पढ़ें :- एनएफएचएस डेटा: पुरुष, भारत में 5 साल से कम उम्र के बच्चे पहले से कहीं ज्यादा मोटे

ऑफिस के टेबल पर खाना

बात सामान्य सी है पर बुरी है । ज़रा सी आलस के चलते लोग टिफिन अपने काम करने वाले टेबल पर ही खोलकर बैठ जाते है लेकिन लीवरपूल यनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस आदत से हमें पता नहीं चल पाता की हमने ज्यादा खाना खा लिया है क्योंकि हमारा ध्यान भंग हो जाता है । इसलिए हमारी सलाह है की आप खाना केंटीन में ही खाये ।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...