हरियाणा में जिंदा जलाए गए बच्चों पर बोले वीके सिंह, कोई कुत्ते को पत्थर मारे तो सरकार जिम्मेदार नहीं

नयी दिल्ली। अक्सर अपने तीखे बयानों को लेकर सुर्खियों मे रहने वाले केंद्रीय राज्यमंत्री वीके सिंह ने आज हरियाणा में दलित परिवार को जिंदा जलाए और उस घटना में दो बच्चों की मौत पर गैरजिम्मेदाराना बयान दिया है| उनका कहना है कि बच्चों की मौत जैसे स्थानीय मामले को केंद्र सरकार से जोड़ कर नहीं देखना चाहिए। मंत्री ने कहा कि अगर कोई कुत्ते को पत्थर मारे तो इसके लिए क्या सरकार की जिम्मेदारी है?     

हरियाणा के सोनपेड़ गांव में कुछ दबंगों द्वारा दलित परिवार के सदस्यों को जिंदा जलाए जाने के मामले मे जब वीके सिंह से पूछा गया कि ऐसी घटना सरकार की नाकामी नहीं तब वीके सिंह ने कहा कि स्थानीय घटनाओं से सरकार का क्या वास्ता? ये दो परिवारों के बीच मतभेद के कारण हुआ| कहां पर प्रशासन की नाकामी हुई, इसकी जांच की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि पेट्रोल छिड़कर जिंदा जलाए जाने के बाद ढाई साल के वैभव और 11 महीने की दिव्या की मौत हो गई थी| इस घटना मे झुलसे बच्चो की माँ अभी भी अस्पताल मे अपनी जिंदगी के लिए लड़ रही है जबकि बच्चों के पिता फिलहाल खतरे से बाहर हैं|