हार्दिक के आन्दोलन को यूपी में धार देगी ‘पीएसी’

लखनऊ| अखिल भारतीय पटेल नवनिर्माण सेना के नेता हार्दिक पटेल के जनहितकारी आन्दोलन को उत्तर प्रदेश में सक्रिय ‘पटेल एक्शन कमेटी’ (पीएसी) ने समर्थन का ऐलान किया है। यह जानकारी ‘पीएसी’ के प्रमुख विनय पटेल ने सोमवार को दी।

उत्तर प्रदेश में सक्रिय ‘पटेल एक्शन कमेटी’ (पीएसी) अब सरकार द्वारा किए गए जबरन भूमि अधिग्रहण और किसानों द्वारा अनवरत की जा रही आत्महत्याओं के मामलों को लेकर अखिल भारतीय पटेल नवनिर्माण सेना प्रमुख हार्दिक पटेल के जनहितकारी आन्दोलन का उत्तर प्रदेश में समर्थन करने का फैसला किया है।

‘पीएसी’ के प्रमुख विनय पटेल ने बताया कि ‘रविवार की शाम संगठन की एक अहम बैठक जनरल सेक्रेक्टरी आशीष पटेल के लखनऊ के कल्लीखेड़ा स्थित निजी आवास में हुई, जिसमें हार्दिक पटेल के आन्दोलन को व्यापक पैमाने पर समर्थन देने का फैसला किया गया है।’ इन्होंने बताया कि ‘उनका संगठन अब तक सिर्फ पटेल बिरादरी के लोगों के हक-अधिकार की लड़ाई लड़ता रहा है, लेकिन अब हार्दिक पटेल के साथ मिलकर शोषित और मजलूमों की भी लड़ाई लड़ेगा।’

‘पीएसी’ प्रमुख का आरोप है कि ‘राज्य सरकार विकास के नाम पर किसानों की उपजाऊ कृषि भूमि जबरन अधिग्रहीत किया है और उचित मुआवजा भी नहीं दिया गया।’ बकौल विनय पटेल, ‘उत्तर प्रदेश की सरकार को चाहिए कि वह पूर्ववर्ती सरकारों द्वारा अधिग्रहीत भूमि किसानों को वापस लौटाए।’ विनय पटेल ने बैठक में लिए गए निर्णय की जानकारी देते हुए बताया कि ‘दैवीय आपदा से जूझ रहे किसानों के सभी कर्जे न माफ किए जाने पर ‘पीएसी’ ने व्यापक आन्दोलन की रणनीति बनाई है, जिसमें हार्दिक पटेल को बुलाया जाएगा।’

विनय पटेल मूलतः उत्तर प्रदेश के फतेहपुर के रहने वाले है, जो पिछले दो साल से ‘पटेल एक्शन कमेटी’ (पीएसी) के बैनर तले सामाजिक कार्य कर रहे है।

लखनऊ से रामलाल जयन की रिपोर्ट