दिहाड़ी मजदूर के खाते में आए 1 करोड़ रुपए

भोपाल| नोटबंदी के बाद काले धन को सफ़ेद करने के चक्कर में धन कुबेर दूसरों के खातों में पैसा जमा कराने में लगे हुए हैं| इसी के तहत पिछले कई दिनों में लोगों के खाते में अचानक करोड़ों रुपए आ गए|




ऐसी ही घटना होशंगाबाद के एक दिहाड़ी मजदूर के साथ हुई, जिसके खाते में आए 1 करोड़ रुपये आने के बाद उसको इनकम टैक्स का नोटिस आ गया| मजदूर का नाम आशाराम विश्वकर्मा है| नोटिस में विश्वकर्मा को 15 दिन के अंदर इस धन के स्त्रोत के बारे में जानकारी आयकर विभाग को देने का निर्देश दिया गया था|

1 Crore Deposited In Labourers Account :

आयकर विभाग ने 30 नवंबर को अंग्रेजी में विश्वकर्मा को नोटिस जारी किया गया था| अंग्रेजी नहीं आने के कारण विश्वकर्मा ने इसे एक स्कूल शिक्षक से पढ़वाया तब वह इस बारे में जानकर हैरान रह गया|




हालांकि बाद में पता चला कि ऐसा बैंक की गलती से हुआ है| बैंक ने कहा कि यह उनकी गलती से हुआ है और उसके खाते में कोई रकम नहीं आई है| बैंक के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘वास्तव में उसने 500 रुपये के 20 नोट जमा किये थे लेकिन गलती से खाते में 500 रुपये के 20,000 नोट जमा होना दर्ज हो गया|”

भोपाल| नोटबंदी के बाद काले धन को सफ़ेद करने के चक्कर में धन कुबेर दूसरों के खातों में पैसा जमा कराने में लगे हुए हैं| इसी के तहत पिछले कई दिनों में लोगों के खाते में अचानक करोड़ों रुपए आ गए| ऐसी ही घटना होशंगाबाद के एक दिहाड़ी मजदूर के साथ हुई, जिसके खाते में आए 1 करोड़ रुपये आने के बाद उसको इनकम टैक्स का नोटिस आ गया| मजदूर का नाम आशाराम विश्वकर्मा है| नोटिस में विश्वकर्मा को 15 दिन के अंदर इस धन के स्त्रोत के बारे में जानकारी आयकर विभाग को देने का निर्देश दिया गया था|आयकर विभाग ने 30 नवंबर को अंग्रेजी में विश्वकर्मा को नोटिस जारी किया गया था| अंग्रेजी नहीं आने के कारण विश्वकर्मा ने इसे एक स्कूल शिक्षक से पढ़वाया तब वह इस बारे में जानकर हैरान रह गया| हालांकि बाद में पता चला कि ऐसा बैंक की गलती से हुआ है| बैंक ने कहा कि यह उनकी गलती से हुआ है और उसके खाते में कोई रकम नहीं आई है| बैंक के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘वास्तव में उसने 500 रुपये के 20 नोट जमा किये थे लेकिन गलती से खाते में 500 रुपये के 20,000 नोट जमा होना दर्ज हो गया|"