किसी भी समय गिर सकते हैं 100 पुराने पुल: नितिन गडकरी

नितिन गडकरी
किसी भी समय गिर सकते हैं 100 पुराने पुल: नितिन गडकरी

नई दिल्ली। केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को लोकसभा को बताया कि केन्द्र ने हाल ही में देश के 1 लाख 60 हजार पुलों के सुरक्षा सर्वे में सामने आया है कि 100 पुल की हालत ऐसी है कि वे किसी भी समय धराशायी हो सकते हैं। इन पुलों को तुरंत बनाने की जरूरत है।

लोकसभा के प्रश्नकाल में बोल रहे नितिन गडकरी ने 2 अगस्त 2016 को महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में ब्रिटिशकालीन पुल के बहने से हुए हादसे में 26 लोगों के मारे जाने की घटना को याद दिलाते हुए कहा कि उन्होंंने देश के सभी 1.60 लाख पुलों का सर्वे करवाया है। जिसमें 100 पुलों की हालत चिंताजन मिली है। इन पुलों की ओर तुरंत ध्यान देने की जरूरत है क्योंकि जांच में सामने आया है कि ये पुल किसी भी समय धराशायी हो सकते हैं।

इसके साथ ही नितिन गडकरी ने परिवहन मंत्रालय की ओर से सड़कों के निर्माण को लेकर अपने प्रयासों का हवाला देते हुए कहा कि लंबे समय से 3 लाख 85 हजार करोड़ के सड़क प्रोजेक्ट लंबे समय से अलग अलग विभागों के आपत्तियों के कारण लेकर लंबित थे। वर्तमान सरकार ने तमाम विभागों से समन्वय ​स्थापित करके इन प्रोजेक्ट्स को शुरू करवाने की काम किया है। सभी प्रोजेक्टों पर काम शुरू होगया है। कुछ प्रोजेक्टस के लिए भूमि अधिग्रहण हो चुका है तो कुछ के लिए प्रक्रिया जारी है।

उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि प्रत्येक राष्ट्रीय राजमार्ग पर प्रति 50 किलोमीटर पर यात्रियों के लिए मूलभूत सुविधा केन्द्र बनाए जाएं। इन सुविधा केन्द्रों पर पार्किंग स्थल, ठहरने की व्यवस्था, भोजनालय वह शौचालय उपलब्ध करवाए जाएंगे। इन जनसुविधा केन्द्रों पर स्थानीय लोगों को रोजगार देने के लिए दुकानों का निर्माण कराया जाएगा, जिससे की स्थानीय संस्कृति जुड़ाव वाले सामानों को बाजार उपलब्ध करवाया जा सके। इन केन्द्रों पर ट्रक चालकों को लेकर विशेष प्रबंध किए जाएंगे।