स्कूली बच्चों को बना दिया पार्टी कार्यकर्ता, पुलिस ने दर्ज की रिपोर्ट

h

हैदराबाद। करीमनगर में तेलंगाना राष्ट्र समिति टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष केटी रामा राव के स्वागत के लिए 100 से अधिक बच्चों को जबरदस्ती कड़ी धूप में तीन घंटे से ज्यादा समय तक खड़ा कराए जाने के आरोप में पुलिस ने एक प्राइवेट स्कूल के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

100 Children Forced To Stand In Hard Sun Rise For Trs Leaders Rally Filed Case Against School :


छात्र छात्राओं को हाथ में पार्टी के पोस्टर, बैनर लेकर टीआरएस की रैली में ले जाया गया था। बाल अधिकार से जुड़े एक एनजीओ की शिकायत पर करीमनगर वन टाउन पुलिस स्कूल प्रबंधन के खिलाफ केस दर्ज कर जांच कर रही है। जिला शिक्षा अधिकारी डीईओ की आंतरिक जांच के बाद पुलिस ने किशोर न्याय की धारा 75 बच्चों की देखभाल और सुरक्षा के तहत मामला दर्ज किया।

एक पुलिस अफसर ने बताया कि गत छह मार्च को रैली के दौरान बच्चों को शारीरिक रूप परेशान करने के आरोप में यह मुकदमा दर्ज किया गया है। महिला और बाल विकास विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि टीआरएस नेता के स्वागत के लिए 100 से ज्यादा बच्चों को पोस्टर बैनर के साथ सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर ढाई बजे तक कड़ी धूप में खड़ा कर दिया गया।

इस दौरान उन्हें भोजन और पानी भी नहीं उपलब्ध कराया गया। हम इस संबंध में भी धाराएं बढ़ाना चाहते हैं। सूत्रों ने बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद डीईओ एस वेंकटेश्वरलू ने इसकी जांच की थी।

हैदराबाद। करीमनगर में तेलंगाना राष्ट्र समिति टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष केटी रामा राव के स्वागत के लिए 100 से अधिक बच्चों को जबरदस्ती कड़ी धूप में तीन घंटे से ज्यादा समय तक खड़ा कराए जाने के आरोप में पुलिस ने एक प्राइवेट स्कूल के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।


छात्र छात्राओं को हाथ में पार्टी के पोस्टर, बैनर लेकर टीआरएस की रैली में ले जाया गया था। बाल अधिकार से जुड़े एक एनजीओ की शिकायत पर करीमनगर वन टाउन पुलिस स्कूल प्रबंधन के खिलाफ केस दर्ज कर जांच कर रही है। जिला शिक्षा अधिकारी डीईओ की आंतरिक जांच के बाद पुलिस ने किशोर न्याय की धारा 75 बच्चों की देखभाल और सुरक्षा के तहत मामला दर्ज किया।

एक पुलिस अफसर ने बताया कि गत छह मार्च को रैली के दौरान बच्चों को शारीरिक रूप परेशान करने के आरोप में यह मुकदमा दर्ज किया गया है। महिला और बाल विकास विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि टीआरएस नेता के स्वागत के लिए 100 से ज्यादा बच्चों को पोस्टर बैनर के साथ सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर ढाई बजे तक कड़ी धूप में खड़ा कर दिया गया।

इस दौरान उन्हें भोजन और पानी भी नहीं उपलब्ध कराया गया। हम इस संबंध में भी धाराएं बढ़ाना चाहते हैं। सूत्रों ने बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद डीईओ एस वेंकटेश्वरलू ने इसकी जांच की थी।