पुराने नोट पकड़े जाने पर सिर्फ जुर्माना, जेल नहीं

नई दिल्ली। सरकार ने पुराने 500 और 1000 रुपये के नोटों को किसी व्यक्ति द्वारा 10 से ज्यादा संख्या में रखे जाने को दंडनीय अपराध घोषित किया है। जुर्माने की राशि न्यूनतम 10,000 रुपये या पाई गई राशि का पांच गुना, जो भी ज्यादा हो, तय की गई है। इसमें चार साल जेल की सजा के प्रस्ताव को छोड़ दिया गया है।




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रिमंडल की बैठक में विनिर्दिष्ट नोट अध्यादेश-2016 को मंजूरी प्रदान की गई थी। इसके अनुसार कोई भी व्यक्ति ऐसे पुराने नोटों को 10 से ज्यादा संख्या में नहीं रख सकता है। केवल शोधार्थियों और विद्वानों को ऐसे 25 नोट रखने की अनुमति अध्यादेश में दी गई है।




अध्यादेश को जल्द ही राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। यह 31 दिसम्बर से प्रभावी होगा। सरकार ने स्पष्ट किया कि गलत जानकारी के साथ एक जनवरी से 31 मार्च के बीच पुराने नोट जमा कराने पर 5,000 रुपये या राशि का पांच गुना, जो भी ज्यादा हो, जुर्माना वसूला जाएगा। द भाषा