लखनऊ में डेंगू के कहर जारी, तीन की और मौत

लखनऊ: डेंगू के कहर ने तीन और जिंदगी की जान लील ले ली। जानकीपुरम के निजी अस्पताल में डेंगू से महिला की मौत हो गई। वहीं बुधवार को 23 नये मरीजों में एलाइजा टेस्ट पॉजिटिव पाया गया। अब तक डेंगू से मरने वालों की संख्या 157 हो चुकी है। वहीं 493 मरीजों में डेंगू की पुष्टि पाई गई है।




जानकारी के अनुसार जानकीपुरम के सेक्टर-एफ निवासी सुरेश यादव की पत्नी हेमलता यादव (52) की डेंगू के चलते मौत हो गई। उनको तेज बुखार होने पर जानकीपुरम के ही निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जांच के दौरान उनमें डेंगू की शिकायत पायी गयी थी। महिला के पति सुरेश कानपुर में पुलिस विभाग में तैनात हैं। परिजनों के अनुसार उन्हें डायबिटीज की शिकायत भी थी। इसके अलावा गोमतीनगर स्थित भरवारा गांव निवासी संतोष कुमार (28) मौत हो गयी, उसका निजी अस्पताल से उपचार चल रहा था।

11 New Dengue Patients In Lucknow District :

इसी प्रकार हसनगंज निवासी मोहम्मद राहिल (28) ने तेज बुखार के चलते दमतोड़ दिया। उसका भी निजी अस्पताल से उपचार चल रहा था। परिजनों का कहना है कि उसमें डेंगू के लक्षण मिले थे। स्वास्य विभाग के अनुसार अब तक 493 लोगों में डेंगू की पुष्टि पाई गई है। आंकड़ों के अनुसार अलग- अलग अस्पतालों में डेंगू के 1743 संदिग्ध मरीज भर्ती हैं।

डेंगू के लक्षण : तेज बुखार, शरीर, सर, मांसपेशियों, आंखों के पीछे तथा कनपटी पर तेज दर्द, भूख का न लगना, भोजन में स्वाद न मिलना, मिचली आना, उल्टी होना, पेट में दर्द होना, नाक-मुंह एवं मल से खून आना।

डेंगू से बचाव: अपने आस-पास, छत पर रखे गमले, टायर, खुले बर्तन, कुलर आदि में पानी इकट्ठा न होने दें। पूरे शरीर को ढंकने वाले कपड़े पहने एवं पूरे शरीर को ढ़ककर सोयें। सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग अवश्य करें। फागिंग एवं कीटनाशकों के छिड़काव के लिए स्थानीय चिकित्सालयों से संपर्क करें।



लखनऊ: डेंगू के कहर ने तीन और जिंदगी की जान लील ले ली। जानकीपुरम के निजी अस्पताल में डेंगू से महिला की मौत हो गई। वहीं बुधवार को 23 नये मरीजों में एलाइजा टेस्ट पॉजिटिव पाया गया। अब तक डेंगू से मरने वालों की संख्या 157 हो चुकी है। वहीं 493 मरीजों में डेंगू की पुष्टि पाई गई है। जानकारी के अनुसार जानकीपुरम के सेक्टर-एफ निवासी सुरेश यादव की पत्नी हेमलता यादव (52) की डेंगू के चलते मौत हो गई। उनको तेज बुखार होने पर जानकीपुरम के ही निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जांच के दौरान उनमें डेंगू की शिकायत पायी गयी थी। महिला के पति सुरेश कानपुर में पुलिस विभाग में तैनात हैं। परिजनों के अनुसार उन्हें डायबिटीज की शिकायत भी थी। इसके अलावा गोमतीनगर स्थित भरवारा गांव निवासी संतोष कुमार (28) मौत हो गयी, उसका निजी अस्पताल से उपचार चल रहा था। इसी प्रकार हसनगंज निवासी मोहम्मद राहिल (28) ने तेज बुखार के चलते दमतोड़ दिया। उसका भी निजी अस्पताल से उपचार चल रहा था। परिजनों का कहना है कि उसमें डेंगू के लक्षण मिले थे। स्वास्य विभाग के अनुसार अब तक 493 लोगों में डेंगू की पुष्टि पाई गई है। आंकड़ों के अनुसार अलग- अलग अस्पतालों में डेंगू के 1743 संदिग्ध मरीज भर्ती हैं। डेंगू के लक्षण : तेज बुखार, शरीर, सर, मांसपेशियों, आंखों के पीछे तथा कनपटी पर तेज दर्द, भूख का न लगना, भोजन में स्वाद न मिलना, मिचली आना, उल्टी होना, पेट में दर्द होना, नाक-मुंह एवं मल से खून आना। डेंगू से बचाव: अपने आस-पास, छत पर रखे गमले, टायर, खुले बर्तन, कुलर आदि में पानी इकट्ठा न होने दें। पूरे शरीर को ढंकने वाले कपड़े पहने एवं पूरे शरीर को ढ़ककर सोयें। सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग अवश्य करें। फागिंग एवं कीटनाशकों के छिड़काव के लिए स्थानीय चिकित्सालयों से संपर्क करें।