भागलपुर सदर अस्पताल के हेल्थ मैनेजर समेत 12 कोरोना वायरस पॉजिटिव मिले, मचा हड़कंप

corona
Coronavirus: राजधानी दिल्ली में मिले 1,192 नए संक्रमित, 23 लोगों की मौत

भागलपुर: भागलपुर में शुक्रवार को 12 कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इनमें सदर अस्पताल का हेल्थ मैनेजर और डाटा एंट्री ऑपरेटर भी शामिल हैं। इसके साथ ही जिले में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 413 पर पहुंच गया। उल्लेखनीय है कि सिविल सर्जन के 56 वर्षीय रसोईया के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि होने के बाद सदर अस्पताल के हेल्थ मैनेजर समेत नशा मुक्ति केंद्र पर तैनात कई लोगों ने कोरोना जांच के लिए अपने सैंपल दिये थे। सिविल सर्जन डॉ विजय कुमार सिंह ने बताया कि जगदीशपुर प्रखंड में 30, 39, 26 वर्षीय युवक व 15 वर्षीय किशोर, पीरपैंती प्रखंड में 25, 30, 32 व 40 वर्षीय युवक, सन्हौला प्रखंड में 20, 30, 42 वर्षीय युवक और गोपालपुर प्रखंड में 44 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन सभी लोगों को कोविड केयर सेंटर में भर्ती करा दिया गया है।

12 Corona Virus Positives Including Health Manager Of Bhagalpur Sadar Hospital Created Panic :

सीएस का रसोइया समेत नौ लोग कोरोना के शिकार
इससे पहले गुरुवार को जिले में नौ और कोरोना पॉजिटिव पाये गये थे। इनमें से सिविल सर्जन का रसोईया व शहर क्षेत्र की एक किशोरी शामिल है। इसके अलावा खरीक प्रखंड से चार, नवगछिया प्रखंड में दो व सुल्तानगंज प्रखंड में एक कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं। सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार सिंह ने बताया कि शहर क्षेत्र का 56 वर्षीय शख्स, मारवाड़ी टोला की 15 वर्षीय किशोरी, सुल्तानगंज प्रखंड का 40 वर्षीय युवक, नवगछिया प्रखंड का 55 वर्षीय अधेड़ व 30 वर्षीय युवक व खरीक प्रखंड में 60 साल का बुजुर्ग, 15 वर्षीय किशोर और 26 व 28 वर्ष का युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।

नशा मुक्ति केंद्र पर बैठता था सीएस का रसोईया
सीएस का 56 वर्षीय जो रसोईया कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। उसके बारे में चर्चा है कि वह सीएस व उनकी पत्नी को खाना बनाकर खिलाने के बाद अक्सर सदर अस्पताल परिसर स्थित नशा मुक्ति केंद्र पर बैठा करता था। गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव पाये जाने से पहले भी वह दो घंटे तक नशा मुक्ति केंद्र पर बैठा था। इसके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि होने के बाद सदर अस्पताल के हेल्थ मैनेजर समेत नशा मुक्ति केंद्र पर तैनात कई लोगों ने कोरोना जांच के लिए अपना-अपना सैंपल दिये। मारवाड़ी टोला निवासी जो 15 वर्षीय किशोरी कोरोना पॉजिटिव पायी गयी है, वह सामाजिक सरोकार से जुड़े एक संगठन का पदाधिकारी व एक कपड़ा कारोबारी की बेटी है।

पीएचसी खरीक पर तैनात लेखापाल का बेटा भी कोरोना का शिकार
खरीक क्षेत्र से आये जो चार लोग कोरोना के शिकार हुए हैं, उनमें से एक खरीक पीएचसी पर तैनात आदेशपाल का 28 वर्षीय बेटा है, जो कि प्रखंड के ध्रुवगंज का निवाासी है। जबकि चार दिन पहले खरीक बाजार में कोरोना पॉजिटिव पाया गया दवा दुकानदार का 15 वर्षीय स्टॉफ भी गुरूवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसके अलावा दवा दुकानदार से इलाज कराने वाला एक 60 वर्षीय कपड़ा कारोबारी व 26 वर्षीय फल कारोबारी भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।

मायागंज अस्पताल के नर्सेज क्वॉर्टर में कोरोना का खौफ
मायागंज अस्पताल में तैनात एक नर्स का भाई कोरोना पॉजिटिव निकला तो कोरोना के खौफ में मायागंज अस्पताल के नर्सिंग क्वॉर्टर में रहने वाली नर्सें आ गयी। कोरोना जांच कराने की मांग को लेकर गुरूवार को करीब तीन दर्जन नर्सें अधीक्षक कार्यालय पहुंची और कोरोना जांच कराने की मांग करने लगी। इस पर अधीक्षक ने नर्सों को जांच कराने वालों की सूची तैयार करने को कहा। तत्काल ही नर्सों ने 35 नर्सों की सूची सौंप दी। इस सूची के आधार पर गुरुवार को 20 नर्सों का सैंपल लिया गया। जबकि 15 नर्सों का सैंपल शुक्रवार को लिया जायेगा। इस बाबत अस्पताल की मैट्रन रीता कुमारी ने बताया कि सैंपल देने वाली नर्सों को होम क्वॉरंटाइन में भेज दिया गया है।

भागलपुर: भागलपुर में शुक्रवार को 12 कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इनमें सदर अस्पताल का हेल्थ मैनेजर और डाटा एंट्री ऑपरेटर भी शामिल हैं। इसके साथ ही जिले में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 413 पर पहुंच गया। उल्लेखनीय है कि सिविल सर्जन के 56 वर्षीय रसोईया के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि होने के बाद सदर अस्पताल के हेल्थ मैनेजर समेत नशा मुक्ति केंद्र पर तैनात कई लोगों ने कोरोना जांच के लिए अपने सैंपल दिये थे। सिविल सर्जन डॉ विजय कुमार सिंह ने बताया कि जगदीशपुर प्रखंड में 30, 39, 26 वर्षीय युवक व 15 वर्षीय किशोर, पीरपैंती प्रखंड में 25, 30, 32 व 40 वर्षीय युवक, सन्हौला प्रखंड में 20, 30, 42 वर्षीय युवक और गोपालपुर प्रखंड में 44 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन सभी लोगों को कोविड केयर सेंटर में भर्ती करा दिया गया है। सीएस का रसोइया समेत नौ लोग कोरोना के शिकार इससे पहले गुरुवार को जिले में नौ और कोरोना पॉजिटिव पाये गये थे। इनमें से सिविल सर्जन का रसोईया व शहर क्षेत्र की एक किशोरी शामिल है। इसके अलावा खरीक प्रखंड से चार, नवगछिया प्रखंड में दो व सुल्तानगंज प्रखंड में एक कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं। सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार सिंह ने बताया कि शहर क्षेत्र का 56 वर्षीय शख्स, मारवाड़ी टोला की 15 वर्षीय किशोरी, सुल्तानगंज प्रखंड का 40 वर्षीय युवक, नवगछिया प्रखंड का 55 वर्षीय अधेड़ व 30 वर्षीय युवक व खरीक प्रखंड में 60 साल का बुजुर्ग, 15 वर्षीय किशोर और 26 व 28 वर्ष का युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। नशा मुक्ति केंद्र पर बैठता था सीएस का रसोईया सीएस का 56 वर्षीय जो रसोईया कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। उसके बारे में चर्चा है कि वह सीएस व उनकी पत्नी को खाना बनाकर खिलाने के बाद अक्सर सदर अस्पताल परिसर स्थित नशा मुक्ति केंद्र पर बैठा करता था। गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव पाये जाने से पहले भी वह दो घंटे तक नशा मुक्ति केंद्र पर बैठा था। इसके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि होने के बाद सदर अस्पताल के हेल्थ मैनेजर समेत नशा मुक्ति केंद्र पर तैनात कई लोगों ने कोरोना जांच के लिए अपना-अपना सैंपल दिये। मारवाड़ी टोला निवासी जो 15 वर्षीय किशोरी कोरोना पॉजिटिव पायी गयी है, वह सामाजिक सरोकार से जुड़े एक संगठन का पदाधिकारी व एक कपड़ा कारोबारी की बेटी है। पीएचसी खरीक पर तैनात लेखापाल का बेटा भी कोरोना का शिकार खरीक क्षेत्र से आये जो चार लोग कोरोना के शिकार हुए हैं, उनमें से एक खरीक पीएचसी पर तैनात आदेशपाल का 28 वर्षीय बेटा है, जो कि प्रखंड के ध्रुवगंज का निवाासी है। जबकि चार दिन पहले खरीक बाजार में कोरोना पॉजिटिव पाया गया दवा दुकानदार का 15 वर्षीय स्टॉफ भी गुरूवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसके अलावा दवा दुकानदार से इलाज कराने वाला एक 60 वर्षीय कपड़ा कारोबारी व 26 वर्षीय फल कारोबारी भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। मायागंज अस्पताल के नर्सेज क्वॉर्टर में कोरोना का खौफ मायागंज अस्पताल में तैनात एक नर्स का भाई कोरोना पॉजिटिव निकला तो कोरोना के खौफ में मायागंज अस्पताल के नर्सिंग क्वॉर्टर में रहने वाली नर्सें आ गयी। कोरोना जांच कराने की मांग को लेकर गुरूवार को करीब तीन दर्जन नर्सें अधीक्षक कार्यालय पहुंची और कोरोना जांच कराने की मांग करने लगी। इस पर अधीक्षक ने नर्सों को जांच कराने वालों की सूची तैयार करने को कहा। तत्काल ही नर्सों ने 35 नर्सों की सूची सौंप दी। इस सूची के आधार पर गुरुवार को 20 नर्सों का सैंपल लिया गया। जबकि 15 नर्सों का सैंपल शुक्रवार को लिया जायेगा। इस बाबत अस्पताल की मैट्रन रीता कुमारी ने बताया कि सैंपल देने वाली नर्सों को होम क्वॉरंटाइन में भेज दिया गया है।