सूरत में कोरोना मरीज का बना 12 लाख रुपये का बिल, परिजनो में आक्रोश

    corona
    सूरत में कोरोना मरीज का बना 12 लाख रुपये का बिल, परिजनो में आक्रोश

    अहमदाबाद। जहां एक तरफ पूरे देश में कोरोना संकट के समय योद्धा के रूप में डॉक्टरों की जमकर तारीफ हो रही है. वहीं कुछ घटनाएं ऐसी भी सामने आ रही हैं जहां अस्पतालों का लालच मुसीबत की इस घड़ी में भी कम नहीं हो रहा है. गुजरात में एक ऐसी ही घटना सामने आई है, जहां कोरोना पॉजिटिव मरीज से अस्पताल ने 12 लाख रुपये से ज्यादा का बिल वसूला है.

    12 Lakh Rupees Bill Made By Corona Patient In Surat Family Members Resent :

    घटना सूरत शहर की है. सूरत के झापा बाजार इलाके में रहने वाले 50 वर्षीय गुलाम हैदर शेख को 13 मई को सर्दी-खांसी की तकलीफ हुई थी. इसके बाद उन्हें फैमिली डॉक्टर के पास ले जाया गया. कोरोना वायरस के लक्षण होने की आशंका के चलते गुलाम हैदर को सूरत के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया.

    भर्ती के बाद अठवागेट स्थित ट्राइ स्टार अस्पताल के डॉक्टरों ने परिजनों को बताया गया कि गुलाम हैदर की तबीयत गंभीर है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखना होगा. डॉक्टरों ने उनका कोरना टेस्ट करवाया जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इसके बाद 48 घंटे में दूसरी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई.

    इस दौरान अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में गुलाम हैदर को रखा गया था. परिवार के लोगों को मिलने की अनुमती नहीं थी. मोबाइल से वीडियो कॉलिंग पर बात कराई जा रही थी. डॉक्टरों ने परिजनों को ये भी बताया कि गुलाम हैदर के फेंफड़े खराब हैं.

    14 दिन तक वेंटिलेटर पर रखा गया. इसके बाद शनिवार को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दे दी गई. लेकिन बिल देखकर परिजन चौंक गए. उनसे इलाज के 12.23 लाख रुपये वसूले गए.

    अहमदाबाद। जहां एक तरफ पूरे देश में कोरोना संकट के समय योद्धा के रूप में डॉक्टरों की जमकर तारीफ हो रही है. वहीं कुछ घटनाएं ऐसी भी सामने आ रही हैं जहां अस्पतालों का लालच मुसीबत की इस घड़ी में भी कम नहीं हो रहा है. गुजरात में एक ऐसी ही घटना सामने आई है, जहां कोरोना पॉजिटिव मरीज से अस्पताल ने 12 लाख रुपये से ज्यादा का बिल वसूला है. घटना सूरत शहर की है. सूरत के झापा बाजार इलाके में रहने वाले 50 वर्षीय गुलाम हैदर शेख को 13 मई को सर्दी-खांसी की तकलीफ हुई थी. इसके बाद उन्हें फैमिली डॉक्टर के पास ले जाया गया. कोरोना वायरस के लक्षण होने की आशंका के चलते गुलाम हैदर को सूरत के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया. भर्ती के बाद अठवागेट स्थित ट्राइ स्टार अस्पताल के डॉक्टरों ने परिजनों को बताया गया कि गुलाम हैदर की तबीयत गंभीर है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखना होगा. डॉक्टरों ने उनका कोरना टेस्ट करवाया जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इसके बाद 48 घंटे में दूसरी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई. इस दौरान अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में गुलाम हैदर को रखा गया था. परिवार के लोगों को मिलने की अनुमती नहीं थी. मोबाइल से वीडियो कॉलिंग पर बात कराई जा रही थी. डॉक्टरों ने परिजनों को ये भी बताया कि गुलाम हैदर के फेंफड़े खराब हैं. 14 दिन तक वेंटिलेटर पर रखा गया. इसके बाद शनिवार को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दे दी गई. लेकिन बिल देखकर परिजन चौंक गए. उनसे इलाज के 12.23 लाख रुपये वसूले गए.