12वीं टॉपर ने लिया दुनिया में शांति फैलाने का फैसला

12-class topper, ahmedabad, अहमदाबाद, सीए, डॉक्टर, इंजीनियर, हैदराबाद, जैन भिक्षु, गांधीनगर, वार्शिल शाह

12vi Topper Ne Liya Duniya Mein Shanti Failane Ka Faisla

अहमदाबाद। 12वीं बोर्ड परीक्षा में 99.9 फीसदी अंक पाकर टॉप करने वाले वार्शिल शाह का सपना किसी अच्छे कॉलेज में दाखिला करवाकर सीए, डॉक्टर, इंजीनियर बनने का नहीं बल्कि सन्यास लेकर जैन दीक्षा लेने की तैयारी कर रहा है। जी हां, हैदराबाद के मध्यम वर्ग का 17 वर्षीय वार्शिल 8 जून को जैन भिक्षु बनने के लिए दीक्षा लेगा।




वार्शिल के चाचा नयनभाई सुठारी ने इस बात की जानकारी दी कि दीक्षा कार्यक्रम गांधीनगर में आयोजित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 27 मई को जारी गुजरात हायर सेकंडरी एजुकेशन बोर्ड के परीक्षा परिणाम में वार्शिल ने टॉप किया है। वैसे तो परीक्षा परिणाम उसकी उम्मीदों के अनुरूप है, लेकिन दुनिया में शांति की स्थापना के लिए यही रास्ता बेहतर है।




वार्शिल तीन साल पहले मुनि श्री कल्याण रत्न विजय जी के संपर्क में आया था। इसके बाद वह आध्यात्म की राह पर मुड़ गया। वार्शिल सफलता के लिए कड़ी मेहनत की बजाए शांत दिमाग से काम करना पसंद करता है। वह दीक्षा लेने के लिए अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने का इंतजार कर रहा था।
पेशे से आयकर अधिकारी वार्शिल के पिता जिगरभाई और मां अमीबेन शाह अपने बेटे के इस फैसले से काफी खुश हैं। इतना ही नहीं वार्शिल की बड़ी बहन जैनिनी भी अपने भाई के फैसले के साथ है।

अहमदाबाद। 12वीं बोर्ड परीक्षा में 99.9 फीसदी अंक पाकर टॉप करने वाले वार्शिल शाह का सपना किसी अच्छे कॉलेज में दाखिला करवाकर सीए, डॉक्टर, इंजीनियर बनने का नहीं बल्कि सन्यास लेकर जैन दीक्षा लेने की तैयारी कर रहा है। जी हां, हैदराबाद के मध्यम वर्ग का 17 वर्षीय वार्शिल 8 जून को जैन भिक्षु बनने के लिए दीक्षा लेगा। वार्शिल के चाचा नयनभाई सुठारी ने इस बात की जानकारी दी कि दीक्षा कार्यक्रम गांधीनगर में आयोजित किया जाएगा। उन्होंने बताया…