इंटेलीजेंस ​ने दिया इनपुट, 14 अप्रैल को फिर हो सकती है हिंसा

sc st protest at meerat
इंटेलीजेंस ​ने दिया इनपुट, 14 अप्रैल को फिर हो सकती है हिंसा

मेरठ। एससी एसटी एक्ट में किए गए बदलाव के बाद पूरे देश में हुए हिंसात्मक प्रदर्शन के बाद एक बार फिर वहां माहौल बिगड़ने की संभावना है। इंटेली​जेंस ने मेरठ पुलिस को कुछ ऐसे इनपुट दिए हैं, जिसके बाद पुलिस के होश उड़े हुए है। आलम ये है कि मेरठ में सभी पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी है, साथ ही जो पुलिसकर्मी छुटृटी पर घर गए हैं, उनको तत्काल फोन कर लौटने के आदेश दे दिए गए हैं।

14 April Can Mark Voilance Says Inteligence Input :

बता दें सुरक्षा व्यवस्था को चाक—चौबंध रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस फोर्स, आरएएफ और आरआरएफ की मांग भी की गई है। इसके साथ ही कंट्रोल रूम को 15 अप्रैल तक पूरी तरह से एक्टिव कर दिया गया है। जिले में किसी प्रकार का कोई बवाल न हो, इसके लिए पुलिस के आलाधिकारियों ने गांव—गांव जाकर बैठकें भी शुरु कर दी हैं।

बता दें कि बीते दो अप्रैल को भारत के दौरान वेस्ट यूपी में जमकर हिंसा फैलाई गई थी। बवालियों ने जमकर प्रदर्शन करने के बाद तोड़फोड़ भी की थी। एससी एसटी एक्ट में बदलाव होने के नाराज लोगों ने कई पुलिस चौकियों को आग के हवाले कर दिया था।

फिलहाल इंटेलीजेंस ने पुलिस अधिकारियों को दिए गए इनपुट में बताया कि 14 अप्रैल को होेने वाले अम्बेडकर जयंती कार्यक्रम के दौरान ​दलित नेताओं और डा.अंबेडकर की मूर्तियों को तोड़कर ​अराजकतत्व हिंसा भड़कानें का प्रयास करेंगे। साथ ही बताया गया कि अम्बेडकर जयंती के दौरान निकलने वाले जुलूसों के दौरान भीड़ पुलिस पर हमलावर भी हो सकती हैं। इस सभी को बातों को ध्यान में रखकर पूरे वेस्ट यूपी में हाई एलर्ट कर दिया गया है।

फिलहाल पुलिस अधिकारी एलआईयू और आईवी से लगातार जानकारी ले रहे हैं, साथ सभी थानों को निर्देशित किया गया हैं कि वो बवालियों को चिन्हित करने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई करें। बताया जा रहा है कि दों अप्रैल को हुई हिंसा के दौरान पड़ोंसी जिलों की गाड़ियों से आए युवकों ने जकर तोड़फोड़ की थी और फिर निकल गए। ऐसे लोगों का जिले में प्रवेश न मिल सके, इसके लिए भी फोर्स को निर्देशित कर दिया गया है।

 

मेरठ। एससी एसटी एक्ट में किए गए बदलाव के बाद पूरे देश में हुए हिंसात्मक प्रदर्शन के बाद एक बार फिर वहां माहौल बिगड़ने की संभावना है। इंटेली​जेंस ने मेरठ पुलिस को कुछ ऐसे इनपुट दिए हैं, जिसके बाद पुलिस के होश उड़े हुए है। आलम ये है कि मेरठ में सभी पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी है, साथ ही जो पुलिसकर्मी छुटृटी पर घर गए हैं, उनको तत्काल फोन कर लौटने के आदेश दे दिए गए हैं।बता दें सुरक्षा व्यवस्था को चाक—चौबंध रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस फोर्स, आरएएफ और आरआरएफ की मांग भी की गई है। इसके साथ ही कंट्रोल रूम को 15 अप्रैल तक पूरी तरह से एक्टिव कर दिया गया है। जिले में किसी प्रकार का कोई बवाल न हो, इसके लिए पुलिस के आलाधिकारियों ने गांव—गांव जाकर बैठकें भी शुरु कर दी हैं।बता दें कि बीते दो अप्रैल को भारत के दौरान वेस्ट यूपी में जमकर हिंसा फैलाई गई थी। बवालियों ने जमकर प्रदर्शन करने के बाद तोड़फोड़ भी की थी। एससी एसटी एक्ट में बदलाव होने के नाराज लोगों ने कई पुलिस चौकियों को आग के हवाले कर दिया था।फिलहाल इंटेलीजेंस ने पुलिस अधिकारियों को दिए गए इनपुट में बताया कि 14 अप्रैल को होेने वाले अम्बेडकर जयंती कार्यक्रम के दौरान ​दलित नेताओं और डा.अंबेडकर की मूर्तियों को तोड़कर ​अराजकतत्व हिंसा भड़कानें का प्रयास करेंगे। साथ ही बताया गया कि अम्बेडकर जयंती के दौरान निकलने वाले जुलूसों के दौरान भीड़ पुलिस पर हमलावर भी हो सकती हैं। इस सभी को बातों को ध्यान में रखकर पूरे वेस्ट यूपी में हाई एलर्ट कर दिया गया है।फिलहाल पुलिस अधिकारी एलआईयू और आईवी से लगातार जानकारी ले रहे हैं, साथ सभी थानों को निर्देशित किया गया हैं कि वो बवालियों को चिन्हित करने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई करें। बताया जा रहा है कि दों अप्रैल को हुई हिंसा के दौरान पड़ोंसी जिलों की गाड़ियों से आए युवकों ने जकर तोड़फोड़ की थी और फिर निकल गए। ऐसे लोगों का जिले में प्रवेश न मिल सके, इसके लिए भी फोर्स को निर्देशित कर दिया गया है।