1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. रूस की न्यूक्लियर मिनी-सबमरीन में आग लगने से 14 नौसैनिकों की हुई मौत

रूस की न्यूक्लियर मिनी-सबमरीन में आग लगने से 14 नौसैनिकों की हुई मौत

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली। विश्‍व की सबसे बड़े टैंक रेजीमेंट देश रूस की एक पनडुब्बी में आग लग जाने से चालक दल के 14 सदस्यों की मौत हो गई। रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा, ‘सोमवार को हुई इस दुर्घटना के दौरान कॉर्बन मोनॉक्साइड के कारण चालक दल के सदस्यों की मौत हो गई।’ साथ ही उन्होंने कहा कि पनडुब्बी दुर्घटना के समय रूसी जल क्षेत्र में सीबेड रिसर्च कर रही थी। हालांकि, रक्षा मंत्रालय ने पनडुब्बी से जुड़ी कोई जानकारी नहीं दी।

बताया जा रहा है, यह एक स्पेशल ऑपरेशन्स के लिए इस्तेमाल होने वाली न्यूक्लियर मिनी-सबमरीन थी। हालांकि आग पर काबू पाने के बाद पनडुब्बी को सेवेरोमॉस्क ले जाया गया, जो रूसी उत्तरी बेड़े का मुख्य बेस है।

इतना ही नहीं रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया कि पनडुब्बी पर कुल कितने सदस्य थे। जिसमें से कई क्रू मेंबर्स इस हादसे में घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। नेवी कमांडर इन चीफ के नेतृत्व में हादसे की जांच शुरू हो चुकी है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को इस हादसे को देश की नेवी के लिए बड़ा नुकसान बताया और मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की।

साथ ही राष्ट्रपति पुतिन ने जानकारी दी कि मरने वालों में 7 कैप्टन और 2 ऐसे सैन्यकर्मी थे, जिन्हें रूस के सर्वोच्च मानद सम्मान ‘हीरो ऑफ द रशियन फेडरेशन’ के खिताब से नवाजा गया था। रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु को तुरंत सेवेरोमॉस्क जाने का आदेश दिया गया है। फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है कि हादसा किस कारण से हुआ।

बता दें, रूस में अगस्त 2000 में एक सबमरीन हादसे में 118 लोगों की मौत हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...