फारूक और उमर अब्दुल्ला से दो महीने बाद आज मिले नेशनल कॉन्फ्रेंस के 15 नेता

umar abdulla
फारूक और उमर अब्दुल्ला से दो महीने बाद आज मिले नेशनल कॉन्फ्रेंस के 15 नेता

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद घर में नजरबंद फारूक (Farooq Abdullah) और उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) से नेशनल कॉन्फ्रेंस का एक प्रतिनिधिमंडल रविवार को मुलाकात की। इस मुलाकात की इजाजत राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दी थी। फारूक और उमर को 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 पर फैसले के बाद से नजरबंद किया गया है।

15 National Conference Leaders Met Today After Two Months From Farooq And Omar Abdullah :

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने दी इजाजत

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने नेशनल कॉन्फ्रेंस नेताओं को पार्टी अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला और उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला से मिलने के लिए रविवार को जम्मू क्षेत्र से श्रीनगर जाने की इजाजत दी। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पूर्व मुख्यमंत्री अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला नजरबंद हैं।

अनुच्छेद 370 हटने के बाद से नजरबंद

घाटी से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती को नजरबंद रखा गया है। उन्हें किसी से मिलने की अनुमति नहीं है। बता दें कि फारूक अब्दुल्ला श्रीनगर स्थित अपने आवास पर नजरबंद हैं, जबकि उमर अब्दुल्ला को स्टेट गेस्ट हाउस में हिरासत में रखा गया है।

हिरासत में हैं घाटी के बड़े नेता

सरकार ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती और जम्मू-कश्मीर पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जाद लोन सहित कश्मीर के अधिकांश राजनीतिक नेतृत्व को भी हिरासत में लिया हुआ है, ताकि धारा 370 को हटाने को लेकर प्रतिरोध का सामना न करना पड़े। नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रवक्ता मंटू ने कहा कि पार्टी के दोनों बड़े नेता से मिलने का फैसला दो दिन पहले जम्मू प्रांत के वरिष्ठ पदाधिकारियों और जिला अध्यक्षों की एक बैठक में लिया गया था।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद घर में नजरबंद फारूक (Farooq Abdullah) और उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) से नेशनल कॉन्फ्रेंस का एक प्रतिनिधिमंडल रविवार को मुलाकात की। इस मुलाकात की इजाजत राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दी थी। फारूक और उमर को 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 पर फैसले के बाद से नजरबंद किया गया है। जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने दी इजाजत जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने नेशनल कॉन्फ्रेंस नेताओं को पार्टी अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला और उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला से मिलने के लिए रविवार को जम्मू क्षेत्र से श्रीनगर जाने की इजाजत दी। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पूर्व मुख्यमंत्री अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला नजरबंद हैं। अनुच्छेद 370 हटने के बाद से नजरबंद घाटी से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती को नजरबंद रखा गया है। उन्हें किसी से मिलने की अनुमति नहीं है। बता दें कि फारूक अब्दुल्ला श्रीनगर स्थित अपने आवास पर नजरबंद हैं, जबकि उमर अब्दुल्ला को स्टेट गेस्ट हाउस में हिरासत में रखा गया है। हिरासत में हैं घाटी के बड़े नेता सरकार ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती और जम्मू-कश्मीर पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जाद लोन सहित कश्मीर के अधिकांश राजनीतिक नेतृत्व को भी हिरासत में लिया हुआ है, ताकि धारा 370 को हटाने को लेकर प्रतिरोध का सामना न करना पड़े। नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रवक्ता मंटू ने कहा कि पार्टी के दोनों बड़े नेता से मिलने का फैसला दो दिन पहले जम्मू प्रांत के वरिष्ठ पदाधिकारियों और जिला अध्यक्षों की एक बैठक में लिया गया था।