गोरखपुर में हुई 1500 बच्चों की मौत, आंकड़ा छुपाने के लिए योगी सरकार डॅक्टरों पर बना रही दबाव : अखिलेश यादव

akhilesh yadav
दिल्ली की जनता ने हिंदू-मुसलमान नहीं विकास के नाम पर किया वोट: अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि जनवरी से अक्टूबर 2019 तक 1500 बच्चों की मौत हुई लेकिन सरकार आंकड़े छुपा रही है। अखिलेश का कहना है कि गोरखपुर में दिमागी बुखार से ग्रस्त बच्चों का डॉक्टर दूसरी बीमारी के नाम पर गलत इलाज कर रहे हैं, जिसके कारण वहां पर बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है।

1500 Children Died In Gorakhpur Akhilesh Yadav :

उन्होंने करीब दो हजार बच्चों की जांच रिपोर्ट एक वीडियो के माध्यम से दिखाई और पूरे मामले की जांच हाइकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट के जज से कराने की मांग की। अखिलेश यादव ने कहा कि राजस्थान के कोटा में बच्चों की मौत का फिक्र योगी सरकार हो है लेकिन गोखपुर में बच्चों की मौत पर वह खामोश हैं।

उनका आरोप है कि पिछली बार सरकार की गलती से बच्चों की जान गयी थी। सरकार बच्चों को सही उपचार देने की बजाय आंकड़े छुपाने में व्यस्त रही। स्वास्थ्य मंत्री कह रहे थे कि अगस्त में बच्चे मरते हैं। सीएम कह रहे थे कि जो लोग बच्चे पैदा करते हैं वहां उनका ध्यान रखें। अखिलेश यादव ने कहा कि इस पूरे मामले की जांच हाईकोर्ट के सिटिंग जज से जांच हो।

बता दें कि, अखिलेश यादव के इन आरोपों पर डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने बच्चों की सूची देने के लिए कहा था। इसके बाद सोमवार को अखिलेश यादव ने करीब दो हजार बच्चों की जांच रिपोर्ट मीडिया के सामने पेश की थी।, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि करीब 1500 बच्चों की मौत हुई है।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि जनवरी से अक्टूबर 2019 तक 1500 बच्चों की मौत हुई लेकिन सरकार आंकड़े छुपा रही है। अखिलेश का कहना है कि गोरखपुर में दिमागी बुखार से ग्रस्त बच्चों का डॉक्टर दूसरी बीमारी के नाम पर गलत इलाज कर रहे हैं, जिसके कारण वहां पर बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। उन्होंने करीब दो हजार बच्चों की जांच रिपोर्ट एक वीडियो के माध्यम से दिखाई और पूरे मामले की जांच हाइकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट के जज से कराने की मांग की। अखिलेश यादव ने कहा कि राजस्थान के कोटा में बच्चों की मौत का फिक्र योगी सरकार हो है लेकिन गोखपुर में बच्चों की मौत पर वह खामोश हैं। उनका आरोप है कि पिछली बार सरकार की गलती से बच्चों की जान गयी थी। सरकार बच्चों को सही उपचार देने की बजाय आंकड़े छुपाने में व्यस्त रही। स्वास्थ्य मंत्री कह रहे थे कि अगस्त में बच्चे मरते हैं। सीएम कह रहे थे कि जो लोग बच्चे पैदा करते हैं वहां उनका ध्यान रखें। अखिलेश यादव ने कहा कि इस पूरे मामले की जांच हाईकोर्ट के सिटिंग जज से जांच हो। बता दें कि, अखिलेश यादव के इन आरोपों पर डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने बच्चों की सूची देने के लिए कहा था। इसके बाद सोमवार को अखिलेश यादव ने करीब दो हजार बच्चों की जांच रिपोर्ट मीडिया के सामने पेश की थी।, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि करीब 1500 बच्चों की मौत हुई है।