संदिग्ध भोजन विषाक्तता के बाद सीआरपीएफ के 168 जवान बीमार

तिरुवनंतपुरम: संदिग्ध भोजन विषाक्तता के चलते पल्लीपुरम के सीआरपीएफ शिविर से सम्बद्ध कम से कम 168 जवान बीमार पड़ गए जिसके बाद अधिकारियों ने मामले को लेकर बोर्ड ऑफ इन्क्वायरी का आदेश दिया।सीआरपीएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जवानों ने शनिवार रात करीब सात बजकर 15 मिनट पर खाना खाया था और कुछ मिनटों बाद उन्होंने बेचैनी की शिकायत की। उल्टी, सिरदर्द और पेट में मरोड़ के लक्षण दिखने के बाद उन्हें अस्पतालों में भर्ती किया गया।




उन्होंने कहा कि हमने लोगों को शिविर स्थित अपने अस्पताल पहुंचाया और बाद में विभिन्न अस्पताल ले गए। अधिकारी ने कहा कि करीब 50 को छोड़कर सभी जवानों को बाहरी मरीजों के तौर पर भर्ती कराया गया। त्रिवेंद्रम मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अनुसार वहां 111 मरीजों को भर्ती कराया गया और उनकी हालत स्थिर है। उन्होंनेे कहा कि शुरुआत जांच में संकेत मिले कि जवान मछली खाने के बाद बीमार पड़े। मछली पास के एक बाजार से लाई गई थी। अधिकारी ने कहा कि एक बोर्ड ऑफ इन्क्वायरी का आदेश दिया गया और रिपोर्ट के सात-आठ दिन में आने की उम्मीद है।




जहां पुलिस के हवाले से आई मीडिया की खबरों में शिविर से सम्बद्ध 400 जवानों के संदिग्ध भोजन विषाक्तता से बीमार पड़ने की बात कही गई थी, सीआरपीएफ ने रविवार को साफ किया कि केवल 168 लोगों में उल्टी, सिरदर्द एवं पेट में मरोड़ के लक्षण दिखे थे। सीआरपीएफ ने पुलिस में शिकायत की और खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने भी खाने के लिए दिए गए भोजन के नमूने जुटाए। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा जवानों को देखने शनिवार रात अस्पताल गई थीं। मेडिकल कॉलेज अस्पताल ने कहा कि भर्ती किए गए 111 जवानों में से दो को छोड़कर बाकी सभी की हालत स्थिर होने के बाद उन्हें रविवार दोपहर में छुट्टी दे दी गई। अस्पताल ने विज्ञप्ति में कहा कि दो जवानों – श्रीधर (25)व कुमारस्वामी (21) की हालत संतोषजनक न होने के कारण उन्हें अस्पताल से छुट्टी नहीं दी गई।