अमेरिकी वायुसेना से हुई बड़ी गलती, अपने ही दोस्तों पर बरसायें बम, 17 की मौत

us
अमेरिकी वायुसेना से हुई बड़ी गलती, अपने ही दोस्तों पर बरसायें बम, 17 की मौत

नई दिल्ली। अफगानिस्तान से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां के हेलमंड प्रांत में तालिबान आतंकियों से मुकाबला करने पहुंची अफगान पुलिस पर ही गलती से अमेरिका ने बम गिरा दिए। इस हमले में 17 अफगान पुलिसकर्मी मारे गए जबकि 14 गंभीर रूप से घायल हो गए।

17 Afghan Policemen Died Due To Mistake Of American Airforce :

हेलमंड प्रांतीय परिषद के प्रमुख अताउल्लाह अफगान ने बताया कि यह घटना हेलमंड प्रांत के नाहर-ए-साराज जिले की है। अफगान सुरक्षा बलों और तालिबान आतंकवादियों के बीच जारी मुठभेड़ के बाद अमेरिकी वायु सेना ने हवाई हमले किए, जिसमें अफगान पुलिस के अधिकारी मारे गए।

ये अधिकारी आतंकवादियों को हाईवे पर स्थित सुरक्षा चेक पोस्ट से पीछे खदेड़ने के लिए पहुंचे थे, इसी बीच अमेरिकी वायु सेना ने गलती से हवाई हमला कर दिया। हेलमंड प्रांत के गवर्नर उमर ज्वाक के प्रवक्ता ने इस घटना की पुष्टि की है और कहा है कि इसकी जांच की जा रही है।

तालिबान के प्रवक्ता यारी यूसुफ अहमदी ने भी इस घटना की पुष्टि की है और कहा है कि अमेरिका सेना ने अपने ही साथियों पर हमले करके 35 पुलिसकर्मियों को मार दिया, जिनमें चार कमांडर भी शामिल हैं।

नई दिल्ली। अफगानिस्तान से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां के हेलमंड प्रांत में तालिबान आतंकियों से मुकाबला करने पहुंची अफगान पुलिस पर ही गलती से अमेरिका ने बम गिरा दिए। इस हमले में 17 अफगान पुलिसकर्मी मारे गए जबकि 14 गंभीर रूप से घायल हो गए। हेलमंड प्रांतीय परिषद के प्रमुख अताउल्लाह अफगान ने बताया कि यह घटना हेलमंड प्रांत के नाहर-ए-साराज जिले की है। अफगान सुरक्षा बलों और तालिबान आतंकवादियों के बीच जारी मुठभेड़ के बाद अमेरिकी वायु सेना ने हवाई हमले किए, जिसमें अफगान पुलिस के अधिकारी मारे गए। ये अधिकारी आतंकवादियों को हाईवे पर स्थित सुरक्षा चेक पोस्ट से पीछे खदेड़ने के लिए पहुंचे थे, इसी बीच अमेरिकी वायु सेना ने गलती से हवाई हमला कर दिया। हेलमंड प्रांत के गवर्नर उमर ज्वाक के प्रवक्ता ने इस घटना की पुष्टि की है और कहा है कि इसकी जांच की जा रही है। तालिबान के प्रवक्ता यारी यूसुफ अहमदी ने भी इस घटना की पुष्टि की है और कहा है कि अमेरिका सेना ने अपने ही साथियों पर हमले करके 35 पुलिसकर्मियों को मार दिया, जिनमें चार कमांडर भी शामिल हैं।