जंगल की आग में 17 लोगों की मौत : मुख्यमंत्री पलनीस्वामी

जंगल की आग में 17 लोगों की मौत : मुख्यमंत्री पलनीस्वामी
जंगल की आग में 17 लोगों की मौत : मुख्यमंत्री पलनीस्वामी

चेन्नई। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी ने सोमवार को कहा कि 11 मार्च को थेनी जिले के कुरंगनी पहाड़ी के जंगल में लगी आग में 17 पर्वतारोहियों की मौत हो गई है। पलनीस्वामी ने विधानसभा में कहा कि चेन्नई और इरोड तथा तिरुप्पुर के पर्वतारोहियों के पास पर्वतारोहण की आवश्यक आधिकारिक अनुमति नहीं थी।

उन्होंने कहा कि मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को एक-एक लाख रुपये तथा मामूली रूप से घायल लोगों को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी।पलनीस्वामी ने कहा कि जंगल में तेल युक्त पौधे होने के कारण आग तेजी से फैली।

{ यह भी पढ़ें:- महाराष्ट्र : बीयर की बोतलों से चोक हुई नालियां,विधानसभा कार्रवाई स्थगित }

उन्होंने कहा कि 12 सदस्यीय एक दल ने 200 रुपये प्रति व्यक्ति की दर से प्रवेश शुल्क का भुगतान किया, लेकिन दल ने एक अनधिकृत रास्ता अपनाया। प्रवेश शुल्क की वैधता एक दिन की थी और चूंकि उन्होंने एक टी एस्टेट अतिथि गृह में भी रात बिताई, लिहाजा प्रवेश शुल्क की वैधता खत्म हो गई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि चेन्नई ट्रेकिंग क्लब के 24 सदस्यी दल ने अनधिकृत पर्वतारोहण मार्ग अपनाया। उन्होंने कहा कि मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

{ यह भी पढ़ें:- 20 हज़ार नेताओं के राजनीतिक मुकदमें वापस लेगी योगी सरकार, अखिलेश ने जताया विरोध }

चेन्नई। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी ने सोमवार को कहा कि 11 मार्च को थेनी जिले के कुरंगनी पहाड़ी के जंगल में लगी आग में 17 पर्वतारोहियों की मौत हो गई है। पलनीस्वामी ने विधानसभा में कहा कि चेन्नई और इरोड तथा तिरुप्पुर के पर्वतारोहियों के पास पर्वतारोहण की आवश्यक आधिकारिक अनुमति नहीं थी। उन्होंने कहा कि मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को एक-एक लाख रुपये तथा मामूली रूप से घायल लोगों को 50,000…
Loading...