हैदराबाद बम धमाकों में दो को मिली सजा, कोर्ट ने अन्य दो को किया बरी

hydrabad bom blast
हैदराबाद बम धमाकों में दो को मिली सजा, कोर्ट ने अन्य दो को किया बरी

2 Convicted And 2 Acquitted In Hydraba Serial Blast

हैदराबाद। वर्ष 2007 में हैदराबाद में हुए बम धमाकों के मामले में एनआईए की स्पेशल कोर्ट ने आज फैसला सुना दिया। इस सनसनीखेज मामले का फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने दो लोगों को दोषी करार दिया है, जबकि अन्य दो लोगों को बरी कर दिया गया। आरोपित दोषियों की सजा पर फैसला सोमवार को आएगा।

कोर्ट ने जिनको दोषी करार दिया है, उनमें अनीक शफीक सईद और इस्माइल चौधरी हैं। बता दें कि साल 2007 में हैदराबाद में हुए धमाकों में 44 लोगों की जान चली गई थी कई, जबकि 68 लोग घायल हो गए थे। इस मामले की जांच में तेलंगाना पुलिस की काउंटर इंटेलिजेंस विंग को लगाया गया था। सीआई ने इस मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार चार्जशीट दायर की गई थी। इसमें दो फरार आरोपियों रियाज भटकल और इकबाल भटकल का भी नाम था।

इन लोगों के खिलाफ 25 अगस्त, 2007 को हुए विस्फोट और उसके बाद दिलसुखनगर क्षेत्र में बिना फटे बम की बरामदगी के संबंध में मामला दर्ज हुआ था। जिसके बाद 2016 अक्टूबर में इस मामले की सुनवाई शुरु की थी। जिसे इस साल जून में चेरलापल्ली केंद्रीय कारावास के परिसर में स्थित एक अदालत हॉल में स्थानांतरित कर दिया गया।

जांच एजेंसी के मुताबिक अनीक शफीक सईद ने लुम्बिनी पार्क में बम रखा था और भटकल ने गोकुल चाट पर बम रखा था। गोकुल चाट खाने-पीने के लिए लोकप्रिय स्थान है जिससे यहां पर हुए विस्फोट में 32 लोगों की मौत हो गई थी और 47 लोग घायल हो गए थे। लुम्बिनी पार्क के ओपन एयर थियेटर में हुए विस्फोट में 12 लोगों की मौत हो गई थी और 21 लोग घायल हो गए थे।

 

हैदराबाद। वर्ष 2007 में हैदराबाद में हुए बम धमाकों के मामले में एनआईए की स्पेशल कोर्ट ने आज फैसला सुना दिया। इस सनसनीखेज मामले का फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने दो लोगों को दोषी करार दिया है, जबकि अन्य दो लोगों को बरी कर दिया गया। आरोपित दोषियों की सजा पर फैसला सोमवार को आएगा। कोर्ट ने जिनको दोषी करार दिया है, उनमें अनीक शफीक सईद और इस्माइल चौधरी हैं। बता दें कि साल 2007 में हैदराबाद में हुए धमाकों…