क्या अब 2000 के नये नोट भी होंगे बंद ?

नईदिल्ली। नोटबंदी के बाद से एक तरफ जहां बैंको में पुराने नोट जमा करने और 500-2000 के नए नोटों को निकालने में लोगो की भीड़ घटने का नाम नही ले रही है, वहीं दूसरी तरफ  आरएसएस से जुड़े आर्थिक विचारक एस. गुरुमूर्ति के एक बयान ने लोगों के दिल में फिर से एक नये डर को पैदा कर दिया। एस. गुरुमूर्ति  का कहना है कि 2000 रुपये के नोट अगले 5 साल में बंद हो जाएंगे।




मोदी सरकार ने पिछले महीने 8 नवम्बर को 500-1000 रुपये के नोटों को बंद किए जाने पर कहा था कि इससे भ्रष्टाचार,कालाधन और आतंकवाद से निपटने में मदद मिलेगी। इस पर कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला और आरोप लगाया कि यदि 1000 रुपये के नोट से करप्शन बढ़ रहा था, तो 2000 रुपये के नोट से तो इसमें और इजाफा होगा। इसके अलावा मार्केट में 2000 रुपये के नोट से छोटी खरीददारी करने वालो को भी छुटटे पैसे की किल्लत से जूझना पड़ रहा है।




केंद्र सरकार की ओर से 14 दिसंबर को अघोषित आय जमा कराने वालों के लिए स्कीम की अधिसूचना जारी की जा सकती है। अघोषित आय जमा कराने वाले लोगों की 25 फीसदी रकम को गरीबों के कल्याण पर खर्च किया जाएगा।




गौरतलब है कि अगर 2000 के नए नोट भी बंद हो जायेंगे, तो जिस कारण से देश अभी संकट से जूझ रहा है संसद लगातार 20 दिनों से विपक्ष के विरोध प्रदर्शन से नही चल पा रही है। करोड़ो रुपये का नुकसान हो रहा है और आम इंसान बेबस होकर बैंक और एटीएम की लाइन में खड़ा है क्या वह फिर से एक बार ऐसे माहौल पैदा करेंगे?