संसद पर हमले की 16वीं बरसी: श्रद्धांजलि सभा में पीएम मोदी और विपक्ष के नेता रहे मौजूद

नई दिल्ली। भारतीय संसद पर आतंकी हमले की आज 16वीं बरसी है। इस मौके पर शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, डॉक्टर मनमोहन सिंह, एल के आडवाणी सहित कई नेता पहुंचे। बता दें कि लोकतंत्र पर हुए इस सबसे बड़े हमले में दिल्ली पुलिस के पांच जवान, सीआरपीएफ की एक महिला कांस्टेबल और संसद के दो गार्ड शहीद हुए थे।

बताते चलें कि 13 दिसंबर, 2001 को पांच आतंकियों ने संसद भवन पर हमला किया था। आतंकी संसद भवन के परिसर में घुस आए थे, जिसके बाद दिल्ली पुलिस के जवानों से उनकी मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने पांचों आतंकवादियों को मार गिराया था। लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने संसद में विस्फोट कर सांसदों को बंधक बनाने की साजिश रची थी। देश के जवानों ने अपनी जान की बाजी लगाकर आतंकियों के मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया।

{ यह भी पढ़ें:- पीएम मोदी का इज़राइली करार यूपी जल निगम के लिए बेकार }

संसद में शीतकालीन सत्र चल रहा था। संसद-सत्र कुछ ही देर पहले स्थगित हुआ था, कुछ सांसद उस समय परिसर में थे वहीं कुछ तत्कालीन प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी सहित कई नेता संसद से निकल चुके थे। आतंकियों ने सुबह 11.20 मिनट पर संसद पर हमला बोला था। सफेद रंग की कार में सवार होकर आए 5 आतंकी संसद भवन परिसर में घुसे थे, आतंकियों की कार पर गृह मंत्रालय का स्टीकर था जिस वजह से सुरक्षाकर्मी उन्हें रोक नहीं पाए थे। आतंकियों ने कार से उतरते ही दनादन फायरिंग शुरू कर दी थी।

श्रद्धांजलि कार्यक्रम में सत्ता पक्ष और विपक्ष एकजुट हुआ

{ यह भी पढ़ें:- पोस्टरवार: राहुल के अमेठी आगमन से पहले चस्पा किया गया ये विवादित पोस्टर, लिखा है.. }

शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने के दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष एकजुट नजर आया। गुजरात चुनाव प्रचार के दौरान आरोप-प्रत्यारोप लगाते नरेंद्र मोदी और मनमोहन सिंह एक-दूसरे का अभिवादन करते नजर आए। हाल ही में कांग्रेस प्रेसिडेंट बने राहुल गांधी भी संसद पहुंचे और शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

Loading...