2018 विस चुनाव परिणाम : त्रिपुरा, नागालैंड में भाजपा और मेघालय में कांग्रेस को मिली बढ़त

2018 विस चुनाव परिणाम, त्रिपुरा, नागालैंड, मेघालय
2018 विस चुनाव परिणाम : त्रिपुरा, नागालैंड में भाजपा और मेघालय में कांग्रेस को मिली बढ़त

नई दिल्ली। पूर्वोत्तर भारत में दशकों से हासिए पर रही भाजपा ने अपने पैर पसारने शुरू कर दिए है। असम में पहली बार सरकार बनाने के बाद भाजपा त्रिपुरा की 59 सीटों में 32 सीटें जीतकर सरकार बनाने की आरे बढ़ रही है। त्रिपुरा में 25 सालों से कायम सीपीएम को मात्र 27 सीटें मिलती नजर आ रहीं हैं। नागालैंड की 60 सीटों में से 21 सीटों पर भाजपा, कांग्रेस 2, एनपीएफ 26 जबकि अन्य के खाते में 2 सीटें गईं हैं। मेघालय से कांग्रेस के लिए अच्छी खबर आई है, जहां कांग्रेस अपनी सरकार को बचाती नजर आ रही है। मेघायल की 59 सीटों में कांग्रेस 21 सीटों पर आगे चल रही है, भाजपा 6, यूडीपी 3 सीट और एपीपी 14 सीटों पर आगे चल रही है। ये सभी आंकड़े शुरूआती रुझानों के आधार पर सामने आए हैं।

2018 Election Results Bjp Leading In Tripura Nagaland Congress Restate In Meghalaya :

इन आंकड़ों से स्पष्ट है कि त्रिपुरा में भाजपा सीपीएम को मात देती नजर आ रही है तो नागालैंड में भाजपा और एनपीएफ गठबंधन कांग्रेस को सत्ता से बाहर करने में कामयाब रहा है। तमाम राष्ट्रीय राजनीतिक मुद्दों पर भाजपा को घेरने की कोशिश कर रही कांग्रेस को बड़ा नुकसान होता नजर आ रहा है।

भाजपा को बांग्ला भाषी त्रिपुरा में मिल रही जीत को भविष्य में पश्चिम बंगाल के लिए टीएमसी और सीपीएम के लिए बुरे संकेत के रूप में देखा जा रहा है। लंबे समय से त्रिपुरा में सीपीएम के माणिक सरकार पिछले 25 सालों से सत्ता में कायम हैं। स्थानीय जानकारों की माने तो त्रिपुरा में सीपीएम के खिलाफ लंबे समय से विरोध की लहर थी, जिसे भुनाने का काम भाजपा ने किया है।

नई दिल्ली। पूर्वोत्तर भारत में दशकों से हासिए पर रही भाजपा ने अपने पैर पसारने शुरू कर दिए है। असम में पहली बार सरकार बनाने के बाद भाजपा त्रिपुरा की 59 सीटों में 32 सीटें जीतकर सरकार बनाने की आरे बढ़ रही है। त्रिपुरा में 25 सालों से कायम सीपीएम को मात्र 27 सीटें मिलती नजर आ रहीं हैं। नागालैंड की 60 सीटों में से 21 सीटों पर भाजपा, कांग्रेस 2, एनपीएफ 26 जबकि अन्य के खाते में 2 सीटें गईं हैं। मेघालय से कांग्रेस के लिए अच्छी खबर आई है, जहां कांग्रेस अपनी सरकार को बचाती नजर आ रही है। मेघायल की 59 सीटों में कांग्रेस 21 सीटों पर आगे चल रही है, भाजपा 6, यूडीपी 3 सीट और एपीपी 14 सीटों पर आगे चल रही है। ये सभी आंकड़े शुरूआती रुझानों के आधार पर सामने आए हैं।इन आंकड़ों से स्पष्ट है कि त्रिपुरा में भाजपा सीपीएम को मात देती नजर आ रही है तो नागालैंड में भाजपा और एनपीएफ गठबंधन कांग्रेस को सत्ता से बाहर करने में कामयाब रहा है। तमाम राष्ट्रीय राजनीतिक मुद्दों पर भाजपा को घेरने की कोशिश कर रही कांग्रेस को बड़ा नुकसान होता नजर आ रहा है।भाजपा को बांग्ला भाषी त्रिपुरा में मिल रही जीत को भविष्य में पश्चिम बंगाल के लिए टीएमसी और सीपीएम के लिए बुरे संकेत के रूप में देखा जा रहा है। लंबे समय से त्रिपुरा में सीपीएम के माणिक सरकार पिछले 25 सालों से सत्ता में कायम हैं। स्थानीय जानकारों की माने तो त्रिपुरा में सीपीएम के खिलाफ लंबे समय से विरोध की लहर थी, जिसे भुनाने का काम भाजपा ने किया है।