2022 में सत्ता में आने पर विकास के कार्यों को फिर से पटरी पर लाएंगे अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि यद्यपि समाजवादी पार्टी की सरकार तो नहीं बन पाई है किंतु विधानसभा चुनावों में जनसमर्थन बहुत मिला है। प्रदेश में जनता को गुमराह कर धोखे की सरकार बन गई है। भाजपा सरकार समाजवादी सरकार के विकास कार्यों से छेड़छाड़ कर रही है। 2022 में सत्ता में आने पर विकास के कार्यों को फिर से पटरी पर लाएंगे। उन्होंने युवाओं से कहा कि वे भाजपा के झूठ और अफवाहों से जनता को सावधान करें। यादव ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार समाजवादी विकास कार्यों को अपना बताकर जनता को बहका रही है। बिजली को पहले से शहरी क्षेत्रों में 22 से 24 घंटे और ग्रामीण इलाकों में 16 से 18 घंटे आपूर्ति हो रही है।




समाजवादी सरकार ने किसानों को राहत दी। भाजपा की कर्जमाफी धोखा है। भाजपा किसान विरोधी है। दिल्ली में किसान अर्धनग्न प्रदर्शन को मजबूर है। भाजपा सरकार की योजनाओं में किसान गांव के लिए स्थान नहीं। प्रधानमंत्री को इसका जवाब देना चाहिए। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि समाजवादी पार्टी के युवा कार्यकर्ता भाजपा और आरएसएस के झूठ एवं अफवाह से बचने के लिए जनता को जागरूक करने का अभियान भी चलाएं। समाजवादी प्रमुख ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है।

कार में जलाकर हत्या हो रही हैं दिनदहाड़े व्यापारी लुट रहे है। महिलाएं असुरक्षित हैं। ऐसे लोग जो जानवर ले जाने पर निर्दोष लोगों की हत्या कर देते हैं वे जानवर से कम नहीं है। श्री यादव ने कहा कि हमारा लक्ष्य राज्य को बहुत आगे ले जाने का रहा है। समाजवादी सरकार ने जितने विकास कार्य किए हैं, उतने तो भाजपा की केंद्र सरकार ने भी नहीं किए है। समाजवादी नौजवान सबसे ज्यादा राष्ट्र के लिए समर्पित है। उन्होंने कहा जनता को आप लोग याद रखेंगे तो जनता भी आपको याद रखेगी। युवा अनुशासन में रहे। हमारे आचरण से दिखना चाहिए कि हम समाजवादी हैं। हमारा व्यवहार दूसरों के प्रति सम्मान जनक होना चाहिए। श्री यादव पार्टी के युवा संगठनों की बैठक को पार्टी मुख्यालय लखनऊ में संबोधित कर रहे थे।

बैठक में बृजेश यादव, प्रदेश अध्यक्ष समाजवादी युवजन सभा द्वारा प्रस्तुत एवं सर्वसम्मति से पारित प्रस्ताव में अखिलेश यादव के नेतृत्व में आस्था जताते हुए कहा गया है कि प्रदेश के गरीबों, किसानों एवं नौजवानों का विश्वास अखिलेश पर है। बैठक में आमंत्रित युवा नेताओं से तीन गुना ज्यादा संख्या में पहुंचे, लगभग हजारों नौजवानों की उपस्थिति इस बात का प्रमाण है कि अखिलेश यादव की लोकप्रियता चरम पर है। नौजवानों ने संकल्प लिया कि वे अन्याय के विरूद्ध संघर्ष जारी रखेंगे। सांप्रदायिकता के विरूद्ध और सामाजिक सदभाव, परिवर्तन और समाज का स्वप्न पूरा करने के लिए गांव-गांव जाएंगे। जनसंपर्क कर समाजवादी सरकार की उपलब्धियां बताएंगे। वे 15 अप्रैल 2017 से पार्टी के सदस्य भर्ती के अभियान में पूरी ताकत से जुटेंगे।




वे सन् 2019 को अपना लक्ष्य बनाकर काम करेंगे। समाजवादी पार्टी के युवा संगठनों में तपेतपाए नौजवानों की बड़ी जमात है। इन्हीं युवाओं ने अखिलेश यादव के नेतृत्व में ईमानदारी से कार्य किया है। अखिलेश ने कहा कि समाजवाद का सपना पूरा करने का उत्तरदायित्व नौजवानों पर है। नौजवानों को संगठन को मजबूती देने के लिए सघन सदस्यता अभियान चलाना होगा। इसमें महिलाओं की भागीदारी भी की जाएगी। सदस्यता भर्ती का कार्यक्रम 15 अप्रैल से 15 जून 2017 तक चलेगा। उन्होने बैलेट पेपर से चुनाव की मांग के लिए व्यापाक हस्ताक्षर अभियान चलाने को भी कहा।