भुवनेश्वर के अस्पताल में लगी आग अब तक 22 मरे

नई दिल्ली। ओड़िशा के भुवनेश्वर स्थित आईएमएस एसयूएम अस्पताल में अचानक लगी आग से 22 मरीजों की मौत हो गई है। यह अस्पताल एक निजी मेडिकल कालेज का हिस्सा है। देर रात उस समय हुआ जब अधिकांश मरीज सो चुके थे। अस्पताल में आग की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंच चुकीं हैं, राहतकार्य लगातार जारी है।




मिली जानकारी के मुताबिक घटना के पीछे शार्ट सर्किट को वजह माना जा रहा है। अभीतक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि आग की चपेट में आए आईसीयू बार्ड में कितने मरीज भर्ती थे। बताया जा रहा है कि आग लगते ही आईसीयू में भर्ती जीवन रक्षक प्रणाली में रखे गए मरीजों की मशीनों ने काम करना बंद कर दिया। इस दौरान अस्पताल में भरे धुंए ने सैकड़ों लोगों को अपनी चपेट में ले​ लिया।

अग्निकांड का शिकार हुआ अस्पताल भुवनेश्वर का सबसे प्रतिष्ठित और आधुनिक अस्पताल बताया जा रहा है। यह अस्पताल 750 बिस्तरों की क्षमता वाला है। जिनमें से 25 बिस्तर आईसीयू बार्ड में हैं। जानकारों की माने तो यह अस्पताल हमेशा भरे रहने वाले अस्पतालों में से एक है। बताया जा रहा है कि अस्पताल में आग लगने की जानकारी मिलने के साथ ही आस पास मौजूद लोंगों मरीजों को बाहर निकालने का काम शुरू कर दिया। जैसे ही इस घटना की जानकारी प्रशासन को मिली वैसे ही प्रशासन ने शहर भर के बड़े अस्पतालों के एंबुलेन्स को घटना स्थ्ल के लिए रवाना कर दिया।



Loading...