कोहरे के चलते आज 221 ट्रेनें रद्द, लाखों यात्री स्टेशन पर रातें गुजारने को मजबूर

लखनऊ। उत्तर भारत में बढ़ती ठंड और कोहरे का असर सबसे ज्यादा रेल सेवाओं पर पड़ता दिख रहा है। बीते तीन दिनों में बढ़ती रद्द ट्रेनों की संख्या को देखते हुए रेल यात्रियों को खासा असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। देश भर के रूटों पर दौड़ रही ट्रेने 20 से 30 घंटे तक देरी से रेंग रहीं हैं। 8 दिसबंर को दोपहर 12 बजे तक 221 ट्रेनों के रद्द होने की जानकारी भारतीय रेल की ​आधिकारिक वेबसाइट ने दी है। जिसमें 153 ट्रेनों को पूरी तरह से और 68 ट्रेनों को बीच यात्रा में रद्द किया गया है।




मिली जानकारी के मुताबिक 7 दिसंबर को भी बड़ी संख्या में ट्रेने रद्द की गईं। जिनकी कुल संख्या 335 रही। जिनमें 172 ट्रेने पूरी तरह से जबकि 163 ट्रेन कुछ दूरी के बाद रद्द कर दी गईं। कोहरे को देखते हुए रेलवे ने 15 दिसंबर तक के लिए 440 ट्रेनों के रद्द होने की जानकारी अपनी वेबसाइट पर डाली है। इस वेबसाइट के मुताबिक 8 दिसबंर को 61 ट्रेनें रद्द की गईं हैं। जिनकी संख्या बढ़कर 153 तक पहुंच चुकी है।

ट्रेनों के रद्द होने और देर से चलने के पीछे सबसे बढ़ा कारण कोहरे के रूप में देखा जा रहा है। अधिकारियों की माने तो लंबे रूट की गाड़ियों के यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए छोटे रूट की गाड़ियों को रद्द करना पड़ रहा है। कोहरे ने गाड़ियों की गति को कम कर दिया है। जिस रूट पर एक घंटे में पांच गाड़ियां गुजर जातीं थी, उसी रूट पर एक गाड़ी को भी गुजारने में दिक्कत हो रही है।