1. हिन्दी समाचार
  2. 24 वर्षों बाद एक मंच पर दिखेंगे मुलायम और मायावती, गेस्ट हाउस कांड भुलाकर मागेंगी वोट

24 वर्षों बाद एक मंच पर दिखेंगे मुलायम और मायावती, गेस्ट हाउस कांड भुलाकर मागेंगी वोट

By शिव मौर्या 
Updated Date

24 Years Later Mulayam And Mayawati Will Be Seen On One Platform

लखनऊ। यूपी में सपा, बसपा और रालोद का गठबंधन लोकसभा का चुनाव लड़ रहा है। सपा और बसपा के गठबंधन ने दो ध्रुव विरोधियों को एक मंच पर ला दिया है। दरअसल आज मैनपुरी में गठबंधन की रैली है। यहां से सपा ने मुलायम सिंह को चुनावी मैदान में उतारा है। मायावती यहां पर रैली को संबोधित करने जा रही हैं और इस मंच पर मुलायम सिंह यादव भी मौजूद रहेंगे।

पढ़ें :- 11 मई 2021 का राशिफल: इस राशि के जातक विवादों से बचें, इन पर पड़ सकता है अमावस्या का प्रभाव

24 वर्षों बाद मायावती गेस्ट हाउस कांड को भुलाकर आज मुलायम सिंह के लिए वोट मांगेगी। वहीं इस रैली में लाखों की संख्या में भीड़ जुटने की संभावना है, जिसके कारण वहां की सुरक्षा व्यवस्था भी पुख्ता की गयी है। सपा, बसपा और रालोद महागठबंधन की आज मैनपुरी में संयुक्त रैली है। यह रैली वहां के क्रिश्चियन फील्ड में आयोजित की गयी है।

इस रैली में मायावती और मुलायम सिंह यादव एक मंच पर नजर आयेंगे। इसके साथ ही मायावती अपने ध्रुव विरोधी मुलायम सिंह के लिए वोट भी मांगेगी। वहीं इसके जरिए यह गठबंधन एक संदेश देने की भी कोशिश करेगा कि सभी दल बीजेपी के खिलाफ हैं। रैली की तैयारियों को लेकर जुटे सपा जिलाध्यक्ष खुमान सिंह वर्मा का कहना है कि सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती और रालोद प्रमुख अजीत सिंह इस रैली में शामिल होंगे।

इसके साथ ही मैनपुरी से सपा प्रत्याशी मुलायम सिंह भी मंच पर मौजूद रहेंगे। गौरतलब है कि 1993 में गठबंधन कर सरकार बनाने वाली सपा और बसपा ने सरकार बनाई थी। 5 जून 1995 के दिन गेस्ट हाउस कांड के बाद दोनों पार्टियों के शीर्ष नेता एक दूसरे ​ध्रुव विरोधी हो गये थे। अक्सर रैलियों में यह एक दूसरे पर जमकर हमला बोलते थे लेकिन आज यह एक हो गये और साथ में मंच भी साझा करेंगे।

पढ़ें :- PUBG Mobile खेलने वालो में ख़ुशी की लहर, जल्द आ रहा है Battlegrounds Mobile India

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X