24 वर्षों बाद एक मंच पर दिखेंगे मुलायम और मायावती, गेस्ट हाउस कांड भुलाकर मागेंगी वोट

maya and mulyam
24 वर्षों बाद एक मंच पर दिखेंगे मुलायम और मायावती, गेस्ट हाउस कांड भुलाकर मायावती मागेंगी वोट

लखनऊ। यूपी में सपा, बसपा और रालोद का गठबंधन लोकसभा का चुनाव लड़ रहा है। सपा और बसपा के गठबंधन ने दो ध्रुव विरोधियों को एक मंच पर ला दिया है। दरअसल आज मैनपुरी में गठबंधन की रैली है। यहां से सपा ने मुलायम सिंह को चुनावी मैदान में उतारा है। मायावती यहां पर रैली को संबोधित करने जा रही हैं और इस मंच पर मुलायम सिंह यादव भी मौजूद रहेंगे।

24 Years Later Mulayam And Mayawati Will Be Seen On One Platform :

24 वर्षों बाद मायावती गेस्ट हाउस कांड को भुलाकर आज मुलायम सिंह के लिए वोट मांगेगी। वहीं इस रैली में लाखों की संख्या में भीड़ जुटने की संभावना है, जिसके कारण वहां की सुरक्षा व्यवस्था भी पुख्ता की गयी है। सपा, बसपा और रालोद महागठबंधन की आज मैनपुरी में संयुक्त रैली है। यह रैली वहां के क्रिश्चियन फील्ड में आयोजित की गयी है।

इस रैली में मायावती और मुलायम सिंह यादव एक मंच पर नजर आयेंगे। इसके साथ ही मायावती अपने ध्रुव विरोधी मुलायम सिंह के लिए वोट भी मांगेगी। वहीं इसके जरिए यह गठबंधन एक संदेश देने की भी कोशिश करेगा कि सभी दल बीजेपी के खिलाफ हैं। रैली की तैयारियों को लेकर जुटे सपा जिलाध्यक्ष खुमान सिंह वर्मा का कहना है कि सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती और रालोद प्रमुख अजीत सिंह इस रैली में शामिल होंगे।

इसके साथ ही मैनपुरी से सपा प्रत्याशी मुलायम सिंह भी मंच पर मौजूद रहेंगे। गौरतलब है कि 1993 में गठबंधन कर सरकार बनाने वाली सपा और बसपा ने सरकार बनाई थी। 5 जून 1995 के दिन गेस्ट हाउस कांड के बाद दोनों पार्टियों के शीर्ष नेता एक दूसरे ​ध्रुव विरोधी हो गये थे। अक्सर रैलियों में यह एक दूसरे पर जमकर हमला बोलते थे लेकिन आज यह एक हो गये और साथ में मंच भी साझा करेंगे।

लखनऊ। यूपी में सपा, बसपा और रालोद का गठबंधन लोकसभा का चुनाव लड़ रहा है। सपा और बसपा के गठबंधन ने दो ध्रुव विरोधियों को एक मंच पर ला दिया है। दरअसल आज मैनपुरी में गठबंधन की रैली है। यहां से सपा ने मुलायम सिंह को चुनावी मैदान में उतारा है। मायावती यहां पर रैली को संबोधित करने जा रही हैं और इस मंच पर मुलायम सिंह यादव भी मौजूद रहेंगे। 24 वर्षों बाद मायावती गेस्ट हाउस कांड को भुलाकर आज मुलायम सिंह के लिए वोट मांगेगी। वहीं इस रैली में लाखों की संख्या में भीड़ जुटने की संभावना है, जिसके कारण वहां की सुरक्षा व्यवस्था भी पुख्ता की गयी है। सपा, बसपा और रालोद महागठबंधन की आज मैनपुरी में संयुक्त रैली है। यह रैली वहां के क्रिश्चियन फील्ड में आयोजित की गयी है। इस रैली में मायावती और मुलायम सिंह यादव एक मंच पर नजर आयेंगे। इसके साथ ही मायावती अपने ध्रुव विरोधी मुलायम सिंह के लिए वोट भी मांगेगी। वहीं इसके जरिए यह गठबंधन एक संदेश देने की भी कोशिश करेगा कि सभी दल बीजेपी के खिलाफ हैं। रैली की तैयारियों को लेकर जुटे सपा जिलाध्यक्ष खुमान सिंह वर्मा का कहना है कि सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती और रालोद प्रमुख अजीत सिंह इस रैली में शामिल होंगे। इसके साथ ही मैनपुरी से सपा प्रत्याशी मुलायम सिंह भी मंच पर मौजूद रहेंगे। गौरतलब है कि 1993 में गठबंधन कर सरकार बनाने वाली सपा और बसपा ने सरकार बनाई थी। 5 जून 1995 के दिन गेस्ट हाउस कांड के बाद दोनों पार्टियों के शीर्ष नेता एक दूसरे ​ध्रुव विरोधी हो गये थे। अक्सर रैलियों में यह एक दूसरे पर जमकर हमला बोलते थे लेकिन आज यह एक हो गये और साथ में मंच भी साझा करेंगे।