2जी घोटाला, बीजेपी का फैलाया दुष्प्रचार था: मनमोहन सिंह

manmohan

नई दिल्ली। पटियाला हाउस कोर्ट की सीबीआई विशेष अदालत द्वारा गुरुवार को सामने आए फैसले के बाद विपक्ष में बैठी तत्कालीन सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी को भाजपा पर हमलावर होने का मौका मिल गया है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अदालत के फैसले पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि 2जी घोटाला कोई घोटाला नहीं था, यह बीजेपी की ओर से तत्कालीन सरकार के खिलाफ फैलाया गया दुष्प्रचार था। जो आज अदालत से आए फैसले के बाद साबित हो चुका है।

आपको बता दें कि 2जी स्पैक्ट्रम घोटाले को लेकर छह सालों तक चली सुनवाई के बाद सीबीआई विशेष अदालत ने इस घोटाले के सभी 25 आरोपियों को सबूतों की कमी का हवाला देते हुए बरी कर दिया। अदालत ने अपने फैसले के स्पष्ट रूप से कहा ​है कि सीबीआई अपनी जांच में कोई ऐसे साक्ष्य नहीं जुटा पाई है। साक्ष्यों के अभाव में घोटाले के सभी आरोपी बरी किए जाते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- पूर्व IG डीजी वंजारा का खुलासा- इशरत एनकाउंटर के बाद मोदी-शाह को गिरफ्तार करना चाहती थी CBI }

इस मामले में आरोपी बने तत्कालीन दूरसंचार मंत्री ए राजा और डीएमके की राज्यसभा सांसद कनीमोझी समेंत कई बड़े कारोबारियों को राहत मिल गई हैं। वहीं सीबीआई ने निचली अदालत के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देने की बात कही है।

2जी स्पैक्ट्रम घोटाले पर जीरो लॉस थ्यौरी का हवाला देने वाले कांग्रेस नेता और पूर्व टेलीकॉम मंत्री व वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि तत्कालीन सरकार ने एक नीति के तहत स्पैक्ट्रम का आवंटन किया था। जिसे तत्कालीन सीएजी विनोद रॉय ने दूसरे दृष्टिकोण से पेश करते हुए 1 लाख 76 हजार करोड़ के नुकसान के रूप में पेश किया था। जो वास्तविकता में काल्पनिक था और बीजेपी ने उसी काल्पनिक तथ्य के आधार पर राजनीतिक लाभ उठाने की कोशिश की। जिसमें वह कामयाब रही और आज सत्ता में बैठी है। आज अदालत में भी यह बात साबित हो गई है। सिब्बल इस मामले पर मीडिया की भूमिका पर भी सवाल उठाए हैं।

{ यह भी पढ़ें:- आप के मंत्री के सरकारी आवास पर CBI का छापा, केजरीवाल बोले- क्या चाहते हैं PM? }

सीबीआई की विश्व​सनियता पर उठे सवाल —

सीबीआई विशेष अदालत से आए फैसले में देश की सबसे विश्वसनीय जांच एजेंसी की जांच प्रक्रिया पर सवाल खड़े किए हैं। जिसमें अदालत ने माना है कि 2जी स्पैक्ट्रम घोटाले में हुए गैर व्यवहारिक लेन देन और भ्रष्टाचार की रकम के बंदरबांट को साबित नहीं कर पाई है।

{ यह भी पढ़ें:- उन्नाव रेपकांड: दो दिन की रिमांड पर लिया गया आरोपी विधायक }

नई दिल्ली। पटियाला हाउस कोर्ट की सीबीआई विशेष अदालत द्वारा गुरुवार को सामने आए फैसले के बाद विपक्ष में बैठी तत्कालीन सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी को भाजपा पर हमलावर होने का मौका मिल गया है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अदालत के फैसले पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि 2जी घोटाला कोई घोटाला नहीं था, यह बीजेपी की ओर से तत्कालीन सरकार के खिलाफ फैलाया गया दुष्प्रचार था। जो आज अदालत से आए फैसले के बाद साबित हो चुका है।…
Loading...