किंग खान की सास के फर्म पर लगा 3.09 करोड़ का जुर्माना

shahrukh
किंग खान की सास के फर्म पर लगा 3.09 करोड़ का जुर्माना

मुम्बई। बॉलीवुड में किंग खान के नाम से मशहूर शाहरुख खान से जुड़ी एक खबर ने सबको चौका दिया है। दरअसल शाहरूख खान की सास सविता छिब्बा की फर्म पर 3.09 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। बता दें कि थाल के अलीबाग में डेज़ावू फार्म हाउस प्राइवेट लिमिटेड नाम से एक कंपनी है, ये फर्म शाहरुख खान की सास सविता छिब्बा और उनकी साली नमिता छिब्बा के नाम से है।

3 09 Crore Fine Imposed On King Khans Mother In Law Firm :

फार्महाउस के साथ एक आलीशान बंगला भी बनाया हुआ है, जिसमें कई बॉलीवुड पार्टीज़ होस्ट की जाती हैं। बता दें कि शाहरुख खान ने 2018 में अपना 52वां जन्मदिन इसी फार्महाउस में मनाया था। यह फार्महाउस 1.3 हेक्टेयर में फैला है। इस फार्महाउस में एक लग्जरी बंगला, पूल और एक हेलीपैड है। इस फार्महाउस पर सेक्शन 63 के तहत बॉम्बे टेनेंसी एक्ट के उल्लंघन का आरोप लगा है।

बताया गया कि कलेक्टर विजय सूर्यवंशी ने डेज़ावू फर्म के बंगले को लेकर 29 जनवरी, 2018 को जो ​नोटिस भेजा गया था उस नोटिस में बताया गया था कि प्लॉट खरीदने के बाद 13 मई, 2005 को रायगढ़ के एडिशनल कलेक्टर से फार्म पर कृषि संबधी काम के लिए अनुमति ली गई थी। हालांकि, उस जगह पर फार्महाउस को तोड़कर नया स्ट्रक्चर खड़ा किया गया, जो कि सेक्शन 63 के तहत बॉम्बे टेनेंसी एक्ट का उल्लंघन है। इस मामले में कई सुनवाई हुई और 20 जनवरी, 2020 को एक ऑर्डर जारी किया गया, जिसमें उल्लंघन को लेकर सरकार को पेनाल्टी के तौर 3.09 करोड़ रुपये भरने के लिए कहा गया था।

मुम्बई। बॉलीवुड में किंग खान के नाम से मशहूर शाहरुख खान से जुड़ी एक खबर ने सबको चौका दिया है। दरअसल शाहरूख खान की सास सविता छिब्बा की फर्म पर 3.09 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। बता दें कि थाल के अलीबाग में डेज़ावू फार्म हाउस प्राइवेट लिमिटेड नाम से एक कंपनी है, ये फर्म शाहरुख खान की सास सविता छिब्बा और उनकी साली नमिता छिब्बा के नाम से है। फार्महाउस के साथ एक आलीशान बंगला भी बनाया हुआ है, जिसमें कई बॉलीवुड पार्टीज़ होस्ट की जाती हैं। बता दें कि शाहरुख खान ने 2018 में अपना 52वां जन्मदिन इसी फार्महाउस में मनाया था। यह फार्महाउस 1.3 हेक्टेयर में फैला है। इस फार्महाउस में एक लग्जरी बंगला, पूल और एक हेलीपैड है। इस फार्महाउस पर सेक्शन 63 के तहत बॉम्बे टेनेंसी एक्ट के उल्लंघन का आरोप लगा है। बताया गया कि कलेक्टर विजय सूर्यवंशी ने डेज़ावू फर्म के बंगले को लेकर 29 जनवरी, 2018 को जो ​नोटिस भेजा गया था उस नोटिस में बताया गया था कि प्लॉट खरीदने के बाद 13 मई, 2005 को रायगढ़ के एडिशनल कलेक्टर से फार्म पर कृषि संबधी काम के लिए अनुमति ली गई थी। हालांकि, उस जगह पर फार्महाउस को तोड़कर नया स्ट्रक्चर खड़ा किया गया, जो कि सेक्शन 63 के तहत बॉम्बे टेनेंसी एक्ट का उल्लंघन है। इस मामले में कई सुनवाई हुई और 20 जनवरी, 2020 को एक ऑर्डर जारी किया गया, जिसमें उल्लंघन को लेकर सरकार को पेनाल्टी के तौर 3.09 करोड़ रुपये भरने के लिए कहा गया था।