जालौन में डंपर की टक्कर से तीन की मौत, उग्र भीड़ ने काटा बवाल

जालौन| जालौन में जालौन-औरैया मार्ग पर डंपर की टक्कर से बाइक सवार दंपति और उसके मासूम पुत्र की मौत हो गई। इस घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने जालौन-औरैया मार्ग को जाम कर लिया। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँची और जाम खुलवाने का प्रयास किया। जाम न खोलने पर पुलिस ने आक्रोशित लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया। इससे गुस्साए लोगों ने 2 डंपर और आग बुझाने पहुंची फायर बिग्रेड की गाड़ी में तोड-फोड करते हुए आग लगा दी। जिसके बाद पुलिस ने लोगों खदेड़ा और आंसू गैस के गोले छोड़े। हालात बिगडते देख जालौन के 10 थानों की पुलिस के साथ एसपी डा.राकेश सिंह मौके पर पहुंचे और उन्होने लोगों को समझाकर शांत कराया। साथ ही घटना में दोषी लोगों पर कारवाही की बात कही।




घटना रविवार की दोपहर की है जब उमरी निवासी जयसिंह अपनी पत्नी और अंश के साथ मोटर साईकिल से एक त्रियोदशी में जा रहे थे। जब वह जालौन के छत्रसाल इंटर कालेज के सामने पेट्रोल पंप के पास पहुंचे तभी औरैया की ओर से आ रहे एक डंपर ने बाईक में टक्कर मार दी। इस हादसे में तीनो की मौके पर ही मौत हो गई। इस घटना के बाद डंपर लेकर चालक मौके से भाग गया। इस हादसे को देख स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और 108 एम्बुलेंस और डायल 100 को सूचना दी लेकिन एम्बुलेन्स और डायल 100 घटना देख मौके से बिना कार्यवाई किए चले गए। जिसके बाद लोगों का आक्रोश फूट गया और उन्होने जालौन-औरैया मार्ग पर जाम लगा लिया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

इस घटना की जानकारी जब जालौन पुलिस को हुई तो वह मौके पर पहुंची और उन्होने जाम खुलवाने का प्रयास किया लेकिन आक्रोशित लोग नहीं माने और जाम लगाये रहे। इसी दौरान जाम खुलवाने के लिये पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। जिसके बाद लोगों का आक्रोश बढ गया और उन्होने पुलिस पर पथराव करते हुए वहां से निकलने वाले डंपर में आग लगा दी। इस घटना को देख पुलिस ने लोगों को खदेड़ने का प्रयास किया लेकिन आक्रोशित लोगों ने पुलिस को ही खदेड़ दिया।बाद में अन्य थानों की पुलिस को बुलाया गया और उरई सीओ जंग बहादुर ने लोगों को समझाकर डंपर में लगी आग को बुझाने के लिये फायर बिग्रेड को बुलाया। जब फायर बिग्रेड के कर्मी आग बुझा रहे थे तभी फिर से आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर पथराव शुरु कर दिया और फायर बिग्रेड की गाड़ी को कब्जे में लेकर उसकी तोडफोड कर आग के हवाले कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोडकर हालत को काबू करने का प्रयास किया।




घटना की जानकारी मिलते ही जालौन के एसपी डाक्टर राकेश सिंह खुद मौके पर पहुंचे और उन्होने मोर्चा सम्भालते हुये आक्रोशित लोगों को समझाया और शांत कराया साथ ही दोषी लोगों पर कार्यवाई की बात कही। घटना के बारे में मृतक के परिजन भानु प्रकाश ने बताया कि एम्बुलेंस के साथ डायल 100 को सूचना दी गई लेकिन वह देखकर चले गए। घायल डेढ घण्टे तक तड़पते रहे लेकिन किसी ने उन्हें उठाने की जहमत नहीं उठाई जिसके बाद उन्हें हंगामा करना पड़ा। वही हालत को काबू में करने पहुंचे जालौन के एसपी राकेश सिंह ने बताया कि घटना में 3 लोगों की मौत हुई जिसके बाद लोगों का आक्रोश फूटा और उन्होने आग लगा दी। उन्होने कहा कि इस मामले में दोषी लोगों पर कार्यवाई की जाएगी और मृतक के परिजनों को मुआवजा दिया जाएगा।