1. हिन्दी समाचार
  2. स्मोकिंग के मामले में चीन सबसे आगे, 35 करोड़ करते हैं धूम्रपान

स्मोकिंग के मामले में चीन सबसे आगे, 35 करोड़ करते हैं धूम्रपान

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

35 Crore Chinese People Are Habitual Of Smoking

बीजिंग। भारत ने अपने उच्च गुणवत्ता वाले जैविक रूप से उगाये गये तंबाकू का चीन को निर्यात करने की जोरदार वकालत की है। चीन में धूम्रपान करने वाले दुनिया के सबसे ज्यादा लोग हैं।

पढ़ें :- 21 जून लॉन्च होने से पहले सैमसंग गैलेक्सी M32 का स्पेसिफिकेशंस गूगल प्ले कंसोल पर नज़र आया

भारतीय तंबाकू बोर्ड की चेयरपर्सन के सुनीता की अध्यक्षता में एक प्रतिनिधिमंल ने चीन के स्टेट टोबैको मोनोपॉली एडमिनिस्ट्रेशन के मुख्य आयुक्त झांग जिआनमिन से शुक्रवार को मुलाकत की। उन्होंने इस दौरान चीन से कहा कि वह अपना बाजार भारतीय तंबाकू आयात के लिये खोले।

भारतीय दूतावास ने शनिवार को यहां जारी एक बयान में इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भारतीय तंबाकू की गुणवत्ता अच्छी है। इसे जैविक तरीके से उगाया जाता है और यह कीटनाशक से मुक्त होता है। भारत एकमात्र देश है जो दो सत्र में तंबाकू का उत्पादन करता है। चीन में दुनिया के सर्वाधिक 35 करोड़ धूम्रपान करने वाले लोग रहते हैं।

चीन की सिगरेट के वैश्विक उत्पादन में 42 प्रतिशत हिस्सेदारी है। यह तंबाकू का सबसे बड़ा उत्पादक तथा उपभोक्ता है। सुनीता ने कहा कि दोनों देशों के बीच दूरी कम है।

इससे भारतीय तंबाकू को चीन के बाजार में लाने में ढुलाई लागत भी कम होगी। भारत गैर विनिर्मित तंबाकू का तीसरा सबसे बड़ा उत्पादक एवं निर्यातक है। भारत, जापान और यूरोप समेत 115 से अधिक स्थानों को पांच हजार करोड़ रुपये से अधिक के तंबाकू का निर्यात करता है। हालांकि चीन को भारतीय तंबाकू का निर्यात लगभग नगण्य है।

पढ़ें :- भारत में लॉन्च हुई रेंज रोवर वेलार जिसकी मूल्य 79.87 लाख रुपये से शुरू हुई है

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X